मंदिर का काम रुकवाने पहुंची पुलिस का ग्रामीणों ने कर दिया बुरा हाल, गांव में फोर्स तैनात, देखें वीडियो

मंदिर का काम रुकवाने पहुंची पुलिस का ग्रामीणों ने कर दिया बुरा हाल, गांव में फोर्स तैनात, देखें वीडियो

Rahul Chauhan | Publish: Oct, 13 2018 02:30:05 PM (IST) | Updated: Oct, 13 2018 03:24:56 PM (IST) Bijnor, Uttar Pradesh, India

मौके पर पहुंचे एसपी बिजनौर उमेश कुमार सिंह ने बताया कि एक पक्ष द्वारा मंदिर का निजी निर्माण कर रहे ग्रामीणों पर पथराव किया गया है।

बिजनौर। थाना नहटौर क्षेत्र के गांव इल्हाबासपुर में बिना परमीशन के धार्मिक स्थल को रुकवाने गई पुलिस पर एक सम्प्रदाय के लोगों ने पथराव और लाठी डंडों से हमला बोल दिया। इस पथराव में ग्रामीणों ने पुलिस की गाड़ियों के शीशे भी तोड़ दिए। सूचना पाकर मौके पर पहुंचे एसपी ने भारी फोर्स को गांव में तैनात कर दिया। जिससे पुलिस को स्थिति पर नियंत्रण करने में जल्द सफलता मिल गई। पता चला है कि एक सम्प्रदाय द्वारा गुरुवार से तंबू लगाकर मंदिर का निर्माण करवाया जा रहा था। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने एसडीएम के नेतृत्व में इस निर्माण को रोकने के लिए जब एक पक्ष से बातचीत की गई तो गुस्साए ग्रामीणों ने पुलिस पर पथराव कर दिया।

यह भी पढ़ें-मुन्ना बजरंगी हत्याकांड का आरोपी नहीं पहुंचा कोर्ट, ये बड़ी वजह आ रही सामने

दरअसल बिजनौर इलाके के इल्हाबासपुर इलाके में जहां पर एक सम्प्रदाय के कुछ लोग अपनी निजी संपत्ति पर बिना परमिशन के मंदिर का निर्माण करा रहे थे। इस बाबत जब दूसरे पक्ष के लोगों ने पुलिस से शिकायत की तो मौके पर पहुंची पुलिस पर ही एक सम्प्रदाय के लोगों ने पुलिस प्रशासन पर ही लाठीचार्ज कर पथराव कर दिया और पुलिस को गांव से खदेड़ दिया। जिसमें पुलिस कर्मी व प्रशासन के अधिकारी चोटिल हुए हैं।

यह भी पढ़ें-गैर संप्रदाय के युवक ने घर में घुसकर किशोरी से किया बलात्कार का प्रयास, इलाके में तनाव

यह भी देखें-राजनाथ सिंह के बेटे पंकज सिंह ने 2019 चुनाव को लेकर कही यह बात

फिलहाल पुलिस के अधिकारी बवाल करने वाले लोगों की तलाश करने में जुटे हैं। मौके पर पहुंचे एसपी बिजनौर उमेश कुमार सिंह ने बताया कि एक पक्ष द्वारा मंदिर का निजी निर्माण कर रहे ग्रामीणों पर पथराव किया गया है। अब हालात सामान्य है। गांव में पीएसी और भारी पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है। आपको बात दे कि अभी दो दिन पूर्व ही गाजियाबाद में भी पुलिस पर हमला हुआ था।

Ad Block is Banned