script49 Workers Who Lost Their Lives In Septic Tank Didnot Get compensation | सेप्टिक टैंक में जान गंवाने वाले 49 कामगारों को नहीं मिला मुआवजा | Patrika News

सेप्टिक टैंक में जान गंवाने वाले 49 कामगारों को नहीं मिला मुआवजा

प्रदेश में आयोजित विभिन्न कार्यशालाओं में पिछले चार वर्षों में 1183 सफाईकर्मियों को स्वच्छता कार्य में कौशल उन्नयन प्रशिक्षण प्रदान किया गया, लेकिन यह भी महज कागजी साबित हो रहा है।

बीकानेर

Published: June 17, 2022 01:22:17 pm

बीकानेर. सीवरेज और सेप्टिक टैंक में दम तोडऩे वाले 49 कामगारों के परिजन अब तक मुआवजे का इंतजार कर रहे हैं। पिछले पांच साल में देश में सेप्टिक टैंक में 325 मजदूरों की मौत हुई, लेकिन इनमें से 276 कामगारों के परिजनों को ही मुआवजा मिल सका। केंद्रीय आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय ने पेयजल और स्वच्छता विभाग के सहयोग से यंत्रीकृत स्वच्छता इको सिस्टम के लिए राष्ट्रीय नीति तैयार की, लेकिन इसकी पालना को लेकर कोई गंभीरता नहीं बरत रहा है। नतीजतन, ये सीवरेज और सेप्टिक टैंक मौत के कुएं बने हुए हैं। प्रदेश में आयोजित विभिन्न कार्यशालाओं में पिछले चार वर्षों में 1183 सफाईकर्मियों को स्वच्छता कार्य में कौशल उन्नयन प्रशिक्षण प्रदान किया गया, लेकिन यह भी महज कागजी साबित हो रहा है।

सेप्टिक टैंक में जान गंवाने वाले 49 कामगारों को नहीं मिला मुआवजा
सेप्टिक टैंक में जान गंवाने वाले 49 कामगारों को नहीं मिला मुआवजा


नाम की नीति

यूं को नीति बनी हुई है, लेकिन वह किसी काम की नहीं है। नीति के अनुसार प्रत्येक जिले में जिम्मेदार स्वच्छता प्राधिकारी की नियुक्ति होनी चाहिए। प्रत्येक नगरपालिका में स्वच्छता रेस्पॉन्स इकाई (एसआरयू) हो। एसआरयू को यंत्रीकृत सफाई के लिए आवश्यक उपकरणों व वाहनों से लैस करना भी इसमें शामिल है। यंत्रीकृत सफाई के लिए व्यावसायिक रूप से प्रशिक्षित जन शक्ति, सीवर और सेप्टिक टैंक के अवरुद्ध होने पर 24 घंटे की हेल्पलाइन जैसी बातें इसमें शामिल हैं।


योजनाएं हैं, लेकिन लाभार्थी कम

सौ फीसदी मशीनरी सफाई को बढ़ावा देने और स्वच्छता कार्यकर्ताओं व उनके आश्रितों को स्थाई आजीविका प्रदान करने के लिए सरकार की ओर से कई योजनाएं संचालित है, लेकिन जागरूकता के अभाव में ग्राउंड लेवल तक इनका लाभ नहीं मिल रहा। स्वच्छता उद्यमी योजना के तहत सफाई कर्मचारियों और स्थानीय निकायों को स्वच्छता संबंधी उपकरणों और मशीनों की खरीद के लिए 50 लाख रुपए तक के रियायती ऋण देने का प्रावधान है। लेकिन योजना शुरू होने से अब तक प्रदेश में महज 33 सफाई कर्मचारियों ने इसका लाभ उठाया है। जबकि आंध्रप्रदेश में 1603 कामगारों ने इसकी सहायता ली। वहीं सफाईकर्मियों व उनके आश्रितों को स्वच्छता संबंधी परियोजनाओं के लिए 5 लाख रुपए तक पंूजीगत सब्सिडी प्रदान करने के लिए स्वरोजगार स्कीम को 2020-21 से संशोधित किया गया। इसके तहत राजस्थान में एक भी सफाईकर्मी ने सहायता नहीं ली।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Train Accident: महाराष्ट्र के गोंदिया में रेल हादसा, पैसेंजर ट्रेन ने मालगाड़ी को मारी टक्कर; 50 से अधिक यात्री घायलJammu Kashmir News: जम्मू के सिधरा में एक ही परिवार के छह लोग की संदिग्ध स्थिति में मौत, पुलिस कर रही छानबीनदिल्ली में आज पीएम मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय कैबिनेट की बैठक, मंत्रिमंडल विस्तार की अटकलें तेजगुलाम नबी ने कांग्रेस को दिया झटका, ठुकराया JK कैंपेन कमेटी का पद, बताया ये कारणदिल्ली में फिर डरा रहा कोरोना, बीते 7 महीने में सबसे ज्यादा पॉजिटिविटी रेट, अलर्ट मोड पर अस्पतालMartyrdom: शेखावाटी का फिर एक लाल देश के नाम कुर्बान, आठ महीने की गर्भवती है पत्नीAlwar Mob Lynching: चिंरजीलाल को भीड़ ने चोर समझकर मार डाला, 7 आरोपी गिरफ्तारबिलासपुर से जोधपुर आ रही ट्रेन मालगाड़ी से टकराई, जानें कितने हुए घायल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.