प्रदेश की जेलों में बंद 79 बंदियों की घर वापसी

Atul Acharya | Updated: 06 Jun 2019, 10:07:19 AM (IST) Bikaner, Bikaner, Rajasthan, India

आचार संहिता हटने के बाद शुरू हुई कार्रवाई

बीकानेर . प्रदेश की जेलों में बंद ७९ बंदियों की घर वापसी हुई है। मंगलवार को विधिक कार्रवाई पूरी कर इन्हें रिहा किया गया। यह बंदी पिछले वर्ष महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर केन्द्र सरकार की ओर से शुरू की गई योजना के तहत रिहा किए गए हैं। रिहा होने वाले बंदियों में बीकानेर जेल के पांच बंदी भी शामिल हैं। अब ये बंदी परिवार के साथ जीवन-यापन कर सकेंगे। जेल अधीक्षक परमजीतसिंह सिद्धू ने बताया कि सीकर निवासी सीताराम, प्रकाश, सीताराम एवं बीकानेर निवासी जेठाराम और सीकर के बजरंगलाल को रिहा करने के आदेश मिले थे। बुधवार को चार बंदिया को रिहा कर दिया गया, जबकि बंदी बजरंगलाल का जुर्माना जमा नहीं होने से रिहा नहीं किया जा सका है।

 


छह अप्रेल को होना था दूसरा चरण : केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर देशभर की जेलों में बंद सामान्य अपराध वाले सजायाफ्ता बंदियों को रिहा करने का निर्णय किया था। रिहाई के पहले चरण की शुरुआत दो अक्टूबर-१८ को गांधी जयंती के दिन हुई, जिसमें प्रदेशभर के ८६ बंदियों को रिहा किया गया था। दूसरा चरण छह अप्रेल को और तीसरा चरण गांधी जयंती पर बंदियों को रिहा करना है। दूसरे चरण का मामला आचार संहिता के कारण अटक गया था।

 

 

छह अप्रेल को बंदियों को रिहा किया जाना था, लेकिन आचार संहिता के चलते मामला सरकार के पास अटका हुआ था। आचार संहिता हटने के बाद दूसरे फेज में प्रदेशभर की जेलों से ७९ बंदियों को रिहा किया जा चुका है।
विक्रमसिंह, आइजी, जेल जयपुर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned