बीकानेर : सेना भर्ती के नाम पर लाखों की ठगी करने वाला 'महाराज' गिरफ्तार

बीकानेर : सेना भर्ती के नाम पर लाखों की ठगी करने वाला 'महाराज' गिरफ्तार
बीकानेर : सेना भर्ती के नाम पर लाखों की ठगी करने वाला 'महाराज' गिरफ्तार

Jitendra Goswami | Updated: 12 Oct 2019, 01:07:25 AM (IST) Bikaner, Bikaner, Rajasthan, India

bikaner news :नोखा. सेना में भर्ती करवाने के नाम पर लाखों रुपए की ठगी कर 17 माह से फरार चल रहे दूसरे आरोपी लिखमीसर (पीलीबंगा) निवासी कृष्णलाल गोदारा उर्फ कल्याणदास 'महाराज' को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है

बीकानेर. नोखा. सेना में भर्ती करवाने के नाम पर लाखों रुपए की ठगी कर 17 माह से फरार चल रहे दूसरे आरोपी लिखमीसर (पीलीबंगा) निवासी कृष्णलाल गोदारा उर्फ कल्याणदास 'महाराज' को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। शुक्रवार को उसे न्यायालय में पेश किया गया। जहां से उसे तीन दिन के रिमांड पर पुलिस को सौंप दिया गया। वहीं ठगी के मुख्य आरोपी बोडिन कलां (जायल) निवासी महेंद्रपाल सिंह को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर जेल भिजवा चुकी है। न्यायालय ने आरोपी महेंद्रपाल की जमानत याचिका खारिज कर दी है।

ऑडियो वायरल होने से पकड़ में आया
एसआई रमेश कुमार ने बताया कि आरोपी कृष्णलाल गोदारा के खिलाफ एक मई २०१८ को सेना में भर्ती कराने के नाम पर ठगी करने का मामला दर्ज कराया गया था। इसकी भनक लगते ही आरोपी मुकाम से फरार हो गया था। दो दिन पहले उसका एक ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो पुलिस ने उस बातचीत के आधार पर आरोपी के ठिकाने का पता लगा लिया। बाद में दबिश देकर ११ पीडी सुथारों की मंडी मोहनगढ़ जैसलमेर से आरोपी को गिरफ्तार किया।

दो मामलों में आरोपी
पुलिस के मुताबिक कृष्णलाल नोखा थाने में दर्ज सेना में भर्ती कराने के नाम पर ठगी करने के दो मामलों में आरोपी है। पहला मामला एक मई २०१८ को भोजासर के भोमाराम बिश्नोई ने दर्ज कराया था। इसमें उसके भाई अशोक को सेना में भर्ती कराने के नाम पर चार लाख रुपए की ठगी करने की बात कही गई। दूसरा मामला रोड़ा के अर्जुन सिंह ने दर्ज कराया। इसमें उसके बेटे नरेंद्र सिंह को सेना में भर्ती कराने के नाम पर तीन लाख की ठगी करने का उल्लेख किया है।
श्रद्धा की आड़ में
ठगी का खेल
आरोपी करीब पौने दो साल पहले तक मुकाम में साधुवेश में 'महाराजÓ बनकर रहता था। वहां आने वाले लोगों को सेना मेंं भर्ती कराने का झांसा देकर आरोपी महेंद्रपाल सिंह से मिलवा कर पैसे ले लेता था। अपने हिस्से की राशि रखकर शेष पैसा मुल्जिम महेंद्रपाल फौजी को दे देता था। श्रद्धा के नाम पर ठगी का यह खेल काफी समय तक चलता, लेकिन एक भी युवक की नौकरी नहीं लगी और उन्होंने पैसे वापस लौटाने का दबाव बनाया तो वह फरार हो गया। फिर ठिकाने बदल-बदलकर रहने लगा। मोटे तौर पर आरोपी २७ लाख रुपए की ठगी कर चुका है।

ऊंटनी का दूध पीना पड़ गया महंगा
सूत्रों के अनुसार आरोपी कृष्णलाल शुगर मरीज है। शुगर कम करने के लिए किसी ने ऊंटनी का दूध पीना बताया था। ऊंटनी का दूध पीने के चक्कर में वह मोहनगढ़ गया था। वहां पर 11 पीडी सुथारों की मंडी के पास मकान में रहता था। कुछ दिन पहले किसी परिचित से फोन पर बातचीत करने का एक ऑडियो वायरल होते-होते पुलिस के पास पहुंच गया। उसी ऑडियो के सहारे पुलिस ने आरोपी को पकड़ लिया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned