वेतन बिल पास करने की एवज में खाजूवाला आईटीआई कॉलेज प्राचार्य रिश्वत लेते गिरफ्तार

वेतन बिल पास करने की एवज में खाजूवाला आईटीआई कॉलेज प्राचार्य रिश्वत लेते गिरफ्तार

dinesh swami | Publish: Jul, 16 2019 09:41:16 PM (IST) Bikaner, Bikaner, Rajasthan, India

acb trap in rajasthan: बीकानेर जिले के सीमावर्ती खाजूवाला कस्बे की राजकीय औद्योािगक प्रशिक्षण केन्द्र के प्राचार्य देवेन्द्र कुमार मिश्रा को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की बीकानेर टीम ने एक हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ लिया।

बीकानेर/खाजूवाला.

जिले के सीमावर्ती खाजूवाला कस्बे की राजकीय औद्योािगक प्रशिक्षण केन्द्र ITI college के प्राचार्य देवेन्द्र कुमार मिश्रा को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ACB की बीकानेर टीम ने एक हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ लिया। वह प्रशिक्षण केन्द्र में संविदा पर तैनात अनुदेशकों के वेतन बिल भुगतान करने की एवज में रिश्वेत की मांग रहा था। आरोपी प्राचार्य देवेंद्र कुमार मिश्रा मूलरूप से राजसमंद के कांकरोली का रहने वाला है।

 

एसीबी की टीम ने उसके राजकीय आवास पर भी तलाश शुरू कर दी। एसीबी के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रजनीश पूनिया ने बताया खाजूवाला आइटीआइ कॉलेज का अधीक्षक एवं कार्यवाहक प्राचार्य देवेन्द्र कुमार मिश्रा पिछले लंबे अर्से से रिश्वतखोरी में लिप्त था। सोमवार को कॉलेज के अनुदेशक (संविदाकर्मी) मुकेश बालान और मोहनलाल मेघवाल ने शिकायत दर्ज कराई थी।

 

उन्होंने बताया कि मिश्रा वेतन बिल का भुगतान करने की एवज में दो-दो हजार रुपए की रिश्वत मांग रहा है। सोमवार को ही शिकायत का सत्यापन किया। इसके बाद मंगलवार को उप अधीक्षक शिवरतन गोदारा के नेतृत्व में एक टीम खाजूवाला भेजी गई। एसीबी टीम ने परिवादी मुकेश को विशेष रसायन लगे रुपए देकर आरोपी के पास भेजा। परिवादी ने आरोपी को रुपए देकर एसीबी की टीम को इशारा कर दिया। एसीबी की टीम ने आरोपी को पकड़ कर रिश्वत में लिए एक हजार रुपए की राशि उसकी जेब से बरामद कर ली।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned