scriptडोडा-पोस्त के बाद अब युवाओं को लगा स्मैक का चस्का | Patrika News
बीकानेर

डोडा-पोस्त के बाद अब युवाओं को लगा स्मैक का चस्का

अपराध के साथ-साथ अब नशे का भी ट्रेंड बदल रहा है। डोडा-पोस्त के अलावा युवाओं को अब स्मैक का चस्का लग रहा है। युवा वर्ग स्मैक व एमडीएमए का बड़े पैमाने पर नशा कर रहे हैं।

बीकानेरJun 20, 2024 / 07:05 am

Jai Prakash Gahlot

जयप्रकाश गहलोत/बीकानेर. अपराध के साथ-साथ अब नशे का भी ट्रेंड बदल रहा है। डोडा-पोस्त के अलावा युवाओं को अब स्मैक का चस्का लग रहा है। युवा वर्ग स्मैक व एमडीएमए का बड़े पैमाने पर नशा कर रहे हैं। इसके प्रमाण पुलिस की कार्रवाईयों से मिले हैं। आंकड़ों के मुताबिक, बीकानेर पुलिस नें ढाई साल में 50 हजार क्विंटल से ज्यादा मादक पदार्थ जब्त किया है। हैरान करने वाली बात यह है कि इनमें सबसे खतरनाक माने जाने वाला हेरोइन, स्मैक व एमडीएमए की मात्रा ज्यादा है। पिछले ढाई साल में पुलिस ने नशे के कारोबार से संबंध रखने वाले 4587 लोगों को पकड़ा है।

पंजाब से शुरू होकर पूरे प्रदेश में फैला

पंजाब में बड़े स्तर पर डोडा-पोस्त का नशा किया जा रहा है। यह सस्ता होने के साथ-साथ श्रमिक वर्ग व खेतों में काम करने वालों मजदूरों को सहजता से उपलब्ध हो जाता है। इसे गरीब व कठिन परिश्रम करने वाले तबके के लोग ज्यादा इस्तेमाल करते हैं। पिछले आठ-दस सालों से डोडा-पोस्त की बिक्री पर प्रतिबंध होने से बड़े स्तर पर इसकी तस्करी हो रही है। मध्यप्रदेश के नीमच, राजस्थान के चितौड़, भीलवाड़ा, बूंदी इलाकों में डोडा-पोस्त की पैदावार होती है। तस्कर इन इलाकों से डोडा-पोस्त पंजाब भेज रहे हैं।

तस्करी के लिए मुफीद है बीकानेर मार्ग

तस्करी के मामले बढ़ने के साथ ही बीकानेर रेंज पुलिस ने सख्ती बढ़ा दी है। इसके बावजूद तस्करों को तस्करी करने के लिए बीकानेर का मार्ग मुफीद लगता है। पंजाब में डोडा-पोस्त हो या गुजरात में शराब की तस्करी। इन सभी के लिए बीकानेर मार्ग से होकर ही तस्कर माल लेकर जाते हैं। पुलिस आंकड़ों की बात करें, तो पुलिस ने नशे के खिलाफ समय-समय पर विशेष अभियान चलाकर महज ढाई साल में 50 हजार किलो डोडा-पोस्त पकड़ा है।

सबसे ज्यादा बीकानेर में

ढाई साल में सबसे ज्यादा डोडा-पोस्त बीकानेर में पकड़ा गया। बीकानेर पुलिस ने 22 हजार 509 किलो डोडा-पोस्त बरामद किया है। श्रीगंगानगर में 7 हजार 92 किलो डोडा-पोस्त, हनुमानगढ़ में 13 हजार 499 कि किलो डोडा-पोस्त एवं अनूपगढ़ में भी 1594.51 किलो डोडा-पोस्त बरामद किया गया। इसके अलावा ढाई साल में पांच किलो 762 ग्राम स्मैक एवं 1576.7 ग्राम एमडीएमए जब्त की गई है। स्मैक और एमडीएमए सबसे महंगा और खतरनाक नशा है।
आंकड़े गवाह हैं।

ढाई साल में कार्रवाई

  • वर्ष 2022 में बीकानेर रेंज पुलिस ने 18715.566 किलोग्राम डोडा-पोस्त, 119.467 किग्रा गांजा, 76.827 किग्रा अफीम, 24.79 किग्रा हेरोइन, 2.472 किग्रा स्मैक, 5 लाख 15 हजार 837 नशीली टेबलेट, 132 ग्राम चरस, 148.98 ग्राम एमडीएमए, 54 लाख 25 हजार 530 रुपए नकद बरामद किए हैं।
  • वर्ष 2023 :- बीकानेर रेंज पुलिस ने 18657.618 किलोग्राम डोडा-पोस्त, 148.164 किग्रा गांजा, 75.279 किग्रा अफीम, 48.40 किग्रा हेरोइन, 2.348 किग्रा स्मैक, दो लाख 51 हजार 519 नशीली टेबलेट, 470.45 ग्राम एमडीएमए, 79 लाख 64 हजार 830 रुपए नकद बरामद किए हैं।
  • वर्ष 2024 :- बीकानेर रेंज पुलिस ने 8694.377 किलोग्राम डोडा-पोस्त, 77.233 किग्रा गांजा, 101.9 किग्रा अफीम, 15.523 किग्रा हेरोइन, 944 ग्राम स्मैक, 957.27 एमडी, 46 हजार 748 नशीली टेबलेट, 470.45 ग्राम एमडीएमए, 7 लाख 16 हजार 180 रुपए नकद बरामद किए हैं।

नशे पर लगाएंगे अंकुश

नशे पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस भरसक प्रयास कर रही है। पुलिस ने 769 प्रकरण दर्ज कर 1089 लोगों को नशीले पदार्थ की तस्करी करते पकड़ा। बड़ी मात्रा में नशीला पदार्थ जब्त किया गया। अब पुलिस नशे के खिलाफ युवाओं-छात्रों व समाज के अन्य वर्गों का हथियार के रूप में इस्तेमाल करेगी। इस योजना पर काम शुरू कर दिया गया है।
तेजस्वनी गौतम, पुलिस अधीक्षक

Hindi News/ Bikaner / डोडा-पोस्त के बाद अब युवाओं को लगा स्मैक का चस्का

ट्रेंडिंग वीडियो