गंदे पानी की आपूर्ति को लेकर बिफरे युवा

गंदे पानी की आपूर्ति को लेकर बिफरे युवा

Nikhil Swami | Publish: May, 20 2019 03:21:43 PM (IST) Bikaner, Bikaner, Rajasthan, India

बीकानेर. बज्जू. नगरासर गांव में गंदे पानी की आपूर्ति और डिग्गी में गंदे पानी को लेकर गांव के युवा बिफर गए और जलदाय विभाग के खिलाफ नारेबाजी की।

बीकानेर. बज्जू. नगरासर गांव में गंदे पानी की आपूर्ति और डिग्गी में गंदे पानी को लेकर गांव के युवा बिफर गए और जलदाय विभाग के खिलाफ नारेबाजी की। ग्रामीण महीराम डारा ओर जगराम थोरी ने बताया कि गांव में कोलायत लिफ्ट की 29 आरडी से पेयजल आपूर्ति होती है और डिग्गियों से सीधे गांव में आपूर्ति की जाती है लेकिन डिग्गियों की लंबे समय से सफाई नहीं हुई है। इनमें भारी मात्रा में गंदगी भी जमा है जो घरों में पहुंच रही है। इससे बीमारी का डर बना है। युवाओं ने रविवार को गांव से पांच किलोमीटर दूर डिग्गी और जलदाय भवन पर पहुंचकर रोष जताते हुए कहा कि जलदाय विभाग के अधिकारी और कर्मचारियों को कई बार अवगत करवाया गया लेकिन ध्यान नही दिया है। इस दौरान श्योपत खीचड़, ओमप्रकाश मेघवाल, चंदुराम बिश्नोई, जगदीश ज्याणी आदि ने रोष प्रकट किया।

 

 

कालूवाला डिग्गी में मरी मछलियां

 

खाजूवाला. गांव 2 कालूवाला में जलदाय विभाग की डिग्गी में रविवार को मछलियां मर गई। मछलियों के मरने का कारण पता नहीं चल पाया है। ग्रामीणों ने सरपंच व विभाग के अधिकारियों को सूचना भी की। गांव के विनोद खिलेरी ने बताया कि चक 2 कालूवाला में जलदाय विभाग की डिग्गियांे में नहरों का पानी डाला जा रहा है। यह पानी दूषित होने से मछलियां मर गई है और पानी में ऊपर आ गई है। इस पर ग्रामीणों ने विभाग के अधिकारियों को सूचना दी तथा कालूवाला के सरपंच राजेन्द्र बेनीवाल को भी बुलाया। सरपंच ने जलदाय विभाग से पानी के नमूने लेकर जांच करवाने की मांग की है। ग्रामीणों ने बताया कि विभाग द्वारा दूषित पानी सप्लाई किया जा रहा है। इससे बीमारियां फैलने की आशंका है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned