scriptAnupgarh Via Chhatargarh-Bikaner Rail Project | अनूपगढ़ वाया छतरगढ़-बीकानेर रेल परियोजना को नहीं लगे पहिये | Patrika News

अनूपगढ़ वाया छतरगढ़-बीकानेर रेल परियोजना को नहीं लगे पहिये

रेल लाइन बिछाने का सर्वे भी वर्ष 2012 में किया था पूरा, प्रस्ताव को ठण्डे बस्ते में डाला
अब रेल लाइन की लागत हुई दोगुनी

बीकानेर

Published: March 29, 2022 06:40:45 pm

छतरगढ़. सामरिक ²ष्टि से महत्वपूर्ण सीमावर्ती क्षेत्र के विकास में मील का पत्थर साबित होने वाली अनूपगढ़-बीकानेर वाया छतरगढ़ रेल लाइन बिछाने की एक दशक से लम्बित परियोजना को बीकानेर के सांसद केंद्र में मंत्री होने के बावजूद पहिये नहीं लग पाए हैं। हालांकि रेल लाइन बिछाने के लिए क्षेत्र के लोग पिछले तीस वर्ष से संघर्षरत है। साथ ही लोकसभा के चुनावों में दोनों प्रमुख पार्टियों ने मुद्दा बनाया। चुनाव के बाद जनप्रतिनिधियों द्वारा इस मुद्धे को ठण्डे बस्ते में डाला दिया गया।
वर्तमान सांसद व केंद्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल इस बजट सत्र में नई रेल लाइन के लिए पैसा स्वीकृत करा सकते थे लेकिन ऐसा नहीं नहीं हो पाया है। इससे क्षेत्र के सैकड़ों गांवों में लोगों में रोष व्याप्त है।

अनूपगढ़ वाया छतरगढ़-बीकानेर रेल परियोजना को नहीं लगे पहिये
अनूपगढ़ वाया छतरगढ़-बीकानेर रेल परियोजना को नहीं लगे पहिये


गौरतलब है कि अनूपगढ़ से बीकानेर तक प्रस्तावित रेल लाइन के लिए एक दशक पूर्व वर्ष 2009-10 में हुए सर्वे के आधार पर बजट में शामिल करने 154.400 किमी रेल लाइन बिछाने के लिए 707.32 करोड़ रुपए की डीपीआर बनी थी लेकिन तत्कालीन रेल मंत्री ने इस परियोजना को शामिल नहीं किया। पांच साल बाद इस रेल लाइन के लिए गत वर्ष प्रयास किए गए। तब 707 करोड़ रुपए बजट से बढ़कर कर 1080 करोड़ रुपए लागत हो गई। पांच साल से लगातार लोगों को भरोसा दिया जाता रहा कि इस बार बजट में इस रेल लाइन के लिए धन स्वीकृत करा काम शुरू करा दिया जाएगा लेकिन रेल लाइन बिछाने का कार्य अभी भी ठंडे बस्ते में डाल दी गई है। गत दस साल में प्रस्तावित रेल लाइन बिछाने में प्रयुक्त सामग्री, भूमि के रेट आदि बढऩे से लगातार लागत बढ़ रही है। गत बजट में प्रस्तावित रेल लाइन के लिए करीब 1450 करोड़ रुपए की लागत आंकी गई है।


यूं बढती रही लागत
21 मई 2012 को हुए सर्वे के बाद इस रेल लाइन की लागत डीपीआर 707.32 करोड़ रुपए आंकी गई। गत दो साल रेल मंत्रालय में कोई हलचल नहीं होने पर सेना द्वारा सामरिक ²ष्टि से अति महत्वपूर्ण रेल लाइन बिछाने के प्रस्तावों में मेरिट में सातवां नम्बर मिला था। पुन: सर्वेक्षण होने के बाद 2 फरवरी 2014 को रेलवे के जोनल मुख्यालय में रिपोर्ट भेजी जिसमें लागत का आंकलन 719 करोड़ रुपए आंका गया। जबकि 22 जनवरी 2015 को रेल मंत्रालय ने राजस्थान में भूमि अधिनियम में परिर्वतन होने पर करवाए गए सर्वे में 1079 करोड़ रुपए आंकी गई। चूंकि 2021-22 बजट सत्र में इस रेल लाइन की लागत करीब 1450 करोड़ रुपए आंकी है।


अनूपगढ़ से लालगढ़ तक सर्वे में प्रस्तावित स्टेशन
स्टेशन का नाम दूरी किमी में
अनूपगढ़ 000-000
पतरोड़ा 014-200
घड़साना 026-000
जालवाली 041-000
रोजड़ी 052-500
खारवाली 061-000
छतरगढ 068-000
सतासर 081-400
मोतीगढ 093-000
बरजू 107-200
लाखूसर 113-000
नूरसर (जालवाली) 123-500
बदरासर 129-000
शोभासर 136-000
बड़ी कुम्हार 143-200
लालगढ 154-430 जंक्शन


इनका कहना है
अनूपगढ़ से बीकानेर रेल लाइन बिछाने का सर्वे हो चुका है। ताजा हालात में इस समय वाया रावला-खाजूवाला रेल लाइन बिछाने की मांग विभिन्न संगठनों के पदाधिकारियों द्वारा उठी है। इस कारण रेल लाइन बिछाने में देरी हो रही है। इसका जल्द ही कोई हल निकाल लिया जाएगा। तथा नई रेल बिछाने के लिए हमने वितमंत्री निर्मला सीतारमण को प्रस्ताव दे रखा है।
अर्जुनराम मेघवाल, सांसद एवं केन्द्रीय राज्यमंत्री, भारत सरकार

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

यहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतियूपी में घर बनवाना हुआ आसान, सस्ती हुई सीमेंट, स्टील के दाम भी धड़ामName Astrology: पिता के लिए भाग्यशाली होती हैं इन नाम की लड़कियां, कहलाती हैं 'पापा की परी'इन 4 राशियों के लड़के अपनी लाइफ पार्टनर को रखते हैं बेहद खुश, Best Husband होते हैं साबितजून में इन 4 राशि वालों के करियर को मिलेगी नई दिशा, प्रमोशन और तरक्की के जबरदस्त आसारमस्तमौला होते हैं इन 4 बर्थ डेट वाले लोग, खुलकर जीते हैं अपनी जिंदगी, धन की नहीं होती कमी1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्ससंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजर

बड़ी खबरें

पाकिस्तान ने भेजी है विषकन्या: राजस्थान इंटेलिजेंस ने सेना को तस्वीरें भेज कर किया अलर्टPooja Singhal Case: झारखंड की 6 और बिहार के मुजफ्फरपुर में ED की एक साथ छापेमारी, अहम सुराग मिलने की उम्मीदकर्नाटक के पूर्व सीएम सिद्धारमैया का विवादित बयान, 'मैं हिंदू हूं, चाहूं तो बीफ खा सकता हूं..'सबसे आगे मोदी, पीछे से बाइडेन सहित अन्य नेता, QUAD Summit से आई PM मोदी की ये तस्वीर वायरलQUAD Summit: अमरीकी राष्ट्रपति ने उठाया रूस-यूक्रेन युद्ध का मुद्धा, मोदी बोले- कम समय में प्रभावी हुआ क्वाड, लोकतांत्रिक शक्तियों को मिल रही ऊर्जाWhat is IPEF : चीन केंद्रित सप्लाई चैन का विकल्प बनेंगे भारत, अमरीका समेत 13 देशबेरोजगारों के लिए सबसे बड़ी खबर: राजस्थान में अब अधिकांश भर्तियों में नहीं होगा साक्षात्कारMonkeypox Virus sexual Conection : यौन संबंधों की वजह से फैला मंकीपॉक्स - WHO का दावा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.