VIDEO : एक ही मंच पर 40 से अधिक कलाकारों ने पेंटिंग से दिया संदेश, रंगों से उकेरी देश-दुनिया की संस्कृति

dinesh swami | Publish: Nov, 11 2018 09:10:32 AM (IST) | Updated: Nov, 11 2018 09:10:33 AM (IST) Bikaner, Bikaner, Rajasthan, India

फ्री इंटरनेशनल आर्टिस्ट ग्रुप की ओर से आयोजित किए जा रहे अन्तरराष्ट्रीय कला महोत्सव के दूसरे दिन राजस्थानी सहित देश-दुनिया की संस्कृति कैनवास पर रंगों के माध्यम से उकेरी गई।

बीकानेर. फ्री इंटरनेशनल आर्टिस्ट ग्रुप की ओर से आयोजित किए जा रहे अन्तरराष्ट्रीय कला महोत्सव के दूसरे दिन शनिवार को राजस्थानी सहित देश-दुनिया की संस्कृति कैनवास पर रंगों के माध्यम से उकेरी गई। देश-विदेश से आए ४० से अधिक कलाकारों ने चटकीले रंगों, सधे हाथों से पारम्परिक संस्कृति की छटा को मूर्तरूप दिया। जिसकी हर किसी ने तारीफ की।

 

सागर होटल सभागार में एक छत के नीचे बैठे देश-विदेश के चित्रकारों ने जब रंगों से उकेरना शुरू किया तो मानो देश-दुनिया की संस्कृति एक जगह साकार होने लगी। कलाकारों ने मॉर्डन, रियल स्टिक व परंपरागत तथा फिगरेटिव पेंटिंग कर लोक संस्कृति की जीवंत किया। विदेशी कलाकारों ने रंगों के माध्यम से राजस्थानी ठेठ परिवेश को दिखाया और देश की परिस्थितियों व सर्वे भवन्तु सुखिन का संदेश भी दिया।

 

कार्यक्रम में इटली के कलाकार एंजो मरीनो, बीकानेर के श्रीगोपाल व्यास, मोना सरदार डूडी, हिमानी शर्मा, अनिकेत कच्छावा, राम भादाणी, महावीर रामावत, कमल जोशी, मुकेश जोशी, राजकमल सहित कई कलाकार ने पंेटिंग की। कला महोत्सव में आर्ट साहित्यकार प्रयाग शुक्ल, पद्मश्री बिमन बी दास सहित देश के प्रसिद्ध कलाकार शिरकत कर रहे हैं।

 

कठपुतली शो
दूसरे सत्र में कठपुतली शो का आयोजन हुआ। महोत्सव के क्यूरेटर श्रीगोपाल व्यास के अनुसार हिमानी शर्मा के नेतृत्व में स्कूली बच्चों ने कठपुतली शो के माध्यम से सामाजिक सरोकार से जुडे़ मुद्दों को उठाया और उपस्थितजनों को संदेश दिया। कार्यक्रम की शुरुआत पर इटालियन म्युजिक का आयोजन हुआ।

 

विदेशी कलाकार देखेंगे देशी परिवेश
पांच दिवसीय कला महोत्सव में भाग लेने बीकानेर पहुंचे कलाकार रविवार को शहर में हैरिटेज वॉक पर निकलेंगे। क्यूरेटर व्यास के अनुसार देश-दुनिया के कलाकार जूनागढ़ पहुंचेंगे। यहां किले की भव्यता और सुंदरता को निहारने के साथ चित्रों में इसकी सुंदरता को उकेरेंगे।

 

कलाकार विश्व प्रसिद्ध रामपुरिया हवेली रोड पहुंचेंगे। हवेलियों की कलात्मकता, बारीक कारीगरी को निहारने के साथ हवेलियों की सुंदरता पर स्केच बनाएंगे व हवेलियों को बचाने का संदेश देंगे। कलाकार भांडाशाह जैन मंदिर भी जाएंगे। साथ ही स्थानीय पकवानों का स्वाद भी चखेंगे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned