दीवान सजा, श्री अखंड पाठ साहिब का भोग भरा

बैसाखी पर गुरुद्धारों में हुए धार्मिक कार्यक्रम, घर-घर में मनाई खुशियां

By: Vimal

Published: 14 Apr 2021, 10:46 AM IST

बीकानेर. बैसाखी पर्व मंगलवार को मनाया गया। पंजाबी समाज के घरों में पारम्परिक रूप से पूजन, प्रसाद और गीत-नृत्य के आयोजन हुए। घर-घर में शुभ और मांगलिक कार्यो की शुरूआत हुई। घरों में पूजन कार्यक्रम हुए। विविध प्रकार के पकवान बनाए गए। खीर-पूडी का विशेष प्रसाद बनाया गया। बैसाखी पर्व पर एक-दूसरे को बधाईयां दी गई। घरों में लोक गीत और नृत्य के आयोजन हुए।


बैसाखी पर्व पर खालसा पंथ सृजना दिवस मनाया गया। गुरुद्वारों में धार्मिक कार्यक्रमों के आयोजन हुए। रानी बाजार स्थित श्री गुरू सिंघ सभा में मंगलवार को भोग श्री अखंड पाठ साहिब हुआ। इसके बाद मुख्य दीवान सजाया गया। शब्द कीर्तन व गुरु इतिहास पर व्याख्यान हुआ। गुरुद्धारा प्रबंधक कमेटी के प्रधान सरदार सुखदेव सिंह और सचिव सरदार गुरुविन्द्र सिंह के अनुसार भाई तारा सिंह, हजूरी रागी ज्ञानी बलविन्द्र सिंह इसके साथ स्थानीय जत्थे व स्त्री सत्संग की बीबीयां की ओर से शबद गायन किया गया।

अरदास उपरान्त गुरु का अटूट लंगर बरता। रानी बाजार गुरुद्वारा में खालसा पंथ सृजना दिवस पर 11 अप्रेल से कार्यक्रमों की शुरूआत हुई। 11 अप्रेल को निशान साहिब की सेवा और आरम्भ श्री अखंड पाठ साहिब हुआ। वहीं बैसाखी पर्व पर गुरुद्वारा श्री गुरुनानक देव अरोड वंश सार्दुल कॉलोनी, गुरुद्वारा श्री दशमेष दरबार आईजीएनपी कॉलोनी, गुरुद्वारा श्री गुरुनानक दरबार जेएनवीसी , गुरुद्वारा गुरु नानक दरबार लालगढ़ स्थित गुरुद्वारों में गुरु ग्रंथ साहिब के अखंड पाठ हुए।

Vimal Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned