बाल विवाह रोकथाम जागृति अभियान : कठपुतली से दिया जागरूकता का संदेश, बताए दुष्प्रभाव, देखें वीडियो

Anushree Joshi

Publish: Apr, 17 2018 02:20:24 PM (IST)

Bikaner, Rajasthan, India

उरमूल सेतु संस्थान लूणकरनसर द्वारा निकाली जा रही बाल विवाह रोकथाम जागृति अभियान की रथयात्रा के तहत सोमवार को लूणकरनसर तहसील के ग्राम गारबदेसर, नाथूसर, आडसर व सरदारशहर के ग्राम कंवलासर में कार्यक्रम हुए तथा ग्रामीणों को बाल विवाह के दुष्परिणामों की जानकारी देते हुए इस सामाजिक अभिशाप से मुक्ति पाने का आह्वान किया गया।

 

कार्यक्रम समन्वयक पुखराज माली ने बताया कि 18 अप्रेल को आखातीज व 29 अप्रेल को पीपल पूर्णिमा का अबूझ सावा है तथा इन दिनों प्रदेश में बाल विवाह की अधिक संभावना रहती है। जागृति रथयात्रा अभियान में गावणियार टीम द्वारा नुक्कड़ नाटक, कटपुतली प्रदर्शन, जागृति गीतों, रैलियों, प्रचार-प्रसार सामग्री आदि के माध्यम से ग्रामीणों में जागरूकता की अलख जगाई गई। इस मौके पर कालू संकुल प्रभारी जबराराम, गोकुलराम, राजकुमार, संतोष व भागीरथ ने भी सम्बोधित किया।

 

रैली से दी बाल विवाह नहीं करने की सीख
धीरदेसर चोटियान. गांव में सोमवार को बाल विवाह रोकथाम की रैली निकाली गई। यहां बालिका राजकीय उच्च माघ्यमिक विद्यालय की बालिकाओं ने बाल विवाह रोकथाम के बारे में रैली निकालकर ग्रामीणों को जागरुक किया। बालिकाओं ने रैली में बाल विवाह रोकने का संदेश दिया और नारों के माध्यम से इसके दुष्प्रभाव के बारे में भी बताय। इस अवसर पर साथिनी विमला देवी ने बताया कि गांव की गलियों से निकली रैली में बालिकाओं ने बाल विवाह नहीं करने की सीख दी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned