भैरव अष्टमी: कहीं गूंजे भजन, कहीं लगे छप्पन भोग

भैरव अष्टमी मनाई गई। जंगल भैरव का अष्टगन्ध से अभिषेक किया गया तथा पंडितों ने वैदिक मंत्रोच्चार से भैरवनाथ की अंग पूजा की।

By: dinesh swami

Published: 12 Nov 2017, 11:09 AM IST

बीकानेर . श्रीगंगानगर रोड कानासर फांटा के पास संत भावनाथ आश्रम में भैरव अष्टमी शनिवार सुबह मनाई गई। इस अवसर पर जंगल भैरव का अष्टगन्ध से अभिषेक किया गया तथा पंडितों ने वैदिक मंत्रोच्चार से भैरवनाथ की अंग पूजा की। इस अवसर पर लेखाकार अशोक माली, कानासर सरपंच हेमन्त, पूर्व सरपंच झंवर लाल कच्छवा, भैरव साधक प्रहलाद ओझा, कुमार सावा, मुकेश छंगाणी ने आरती की।

 

इस दौरान भक्ति भजन कार्यक्रम में जंगल बिच भैरु नाथ थारो कुण करियो शृंगार भैरव नाथ दया करके व भैरु मतवाला सहित कई भजनों की प्रस्तुतिया हुई। इस अवसर पर संत भावनाथ महाराज ने भैरव महिमा बताई व प्रहलाद ओझा ने भैरव नाथ की सरल पूजा पद्धति बताई। मोहता चौक स्थित आनन्द भैरव मन्दिर में शनिवार को भैरव अष्टमी धूमधाम से मनाई गई। भैरव जी के छप्पन भोग का प्रसाद चढ़ाया गया। झंवरों की पिरोल स्थित मेड़ता भैरव मंदिर में शनिवार को भैरवाष्टमी पर्व
मनाया गया।

 

पंडित गोपाल दास ओझा के सानिध्य में मंत्रोच्चारण के बीच भैरव मूर्ति का अभिषेक, पूजन, शृंगार कर महाआरती की गई। इस अवसर पर भक्ति जागरण एवं महाप्रसाद का आयोजन हुआ। भैरवाष्टमी पर धर्मनगर द्वार के बाहर रत्ताणी व्यासों की बगीची में कोडाणा भैरव की महाआरती व पूजा-अर्चना की गई। इस अवसर पर पं. महेन्द्र व्यास, नितेश व्यास, शिव व्यास ने पूजा-अर्चना की। भैरवाष्टमी पर भुजिया बाजार स्थित रिगतमल भैरव का विशेष शृंगार किया गया।

 

काशनदी छंगाणी मोहल्ला स्थित सियाणा भैरव मंदिर में भैरवाष्टमी पर्व धूमधाम से मनाया गया। इस दौरान सियाणा भैरव मूर्ति का अभिषेक, पूजन, शृंगार कर महाआरती की गई। पं तुलसीदास छंगाणी के सानिध्य में वेदपाठी ब्राह्मणों द्वारा भैरवस्तोत्र पाठ, भजनों की प्रस्तुतियां दी गई।

 

प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव शुरू
बीकानेर. बंगला नगर में श्री मैढ़ क्षत्रिय स्वर्णकार बगीची मोक्षधाम में नवनिर्मित शिव मंदिर में मूर्तियों की प्राण प्रतिष्ठा का पांच दिवसीय अनुष्ठान शनिवार से पंडित नथमल पुरोहित के आचार्यत्व में शुरू हुआ।

 

बगीची के अध्यक्ष विजय राज डांवर ने बताया कि पहले दिन जल यात्रा निकाली गई। मंडप प्रवेश के बाद हवन हुआ। इसमें श्रद्धालुओं ने आहुतियां दी। बगीची के सचिव झंवर लाल धूपड़ ने बताया कि रविवार को गणेश एवं मंडल पूजन सुबह आठ बजे होगा। शाम चार बजे पूजा व शाम छह बजे आरती होगी।

dinesh swami Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned