दो साल से किराए के भवन में चल रही प्रदेश की एकमात्र साइक्लिंग एकेडमी

प्रदेश की एकमात्र साइकिल एकेडमी का संचालन अब भी किराए के भवन में हो रहा है। पूर्ववर्ती भाजपा सरकार ने दो साल पहले बीकानेर में साइकिल एकेडमी खोली थी।

By: Atul Acharya

Published: 03 Dec 2019, 12:26 PM IST

निखिल स्वामी

बीकानेर. प्रदेश की एकमात्र साइकिल एकेडमी का संचालन अब भी किराए के भवन में हो रहा है। पूर्ववर्ती भाजपा सरकार ने दो साल पहले बीकानेर में साइकिल एकेडमी खोली थी। दो साल बाद भी यह साइकिल एकेडमी किराए के भवन में ही चल रही है। इसके कारण कई खिलाड़ी तो साइकिल एकेडमी छोड़कर चले गए और कई खिलाड़ी इसके प्रति रुचि भी नहीं दिखा रहे है। इस साइकिल एकेडमी में 30 खिलाडि़यों को प्रवेश दिया जा सकता है, लेकिन वर्तमान में यहां सिर्फ 11 खिलाड़ी ही हैं। वहीं वर्ष 2019 में यहां 15 खिलाड़ी थे। इस एकेडमी पर न तो सरकार और न ही जनप्रतिनिधि ध्यान दे रहे हैं।

बीकानेर के खिलाडि़यों ने कई बार सरकार व जनप्रतिनिधियों से बीकानेर में साइकिल वेलोड्रम बनाने की मांग की, लेकिन सरकार व जनप्रतिनिधियों से आश्वासन के अलावा कुछ नहीं मिला है। हालांकि सरकार ने साइकिल वेलोड्रम बनाने के लिए कमेटी गठित की हुई है और ३३३.३३ मीटर का साइकिल वेलोड्रम बनाने का प्रस्ताव राज्य सरकार को भेजा गया है, लेकिन इसके लिए आगे कोई कार्रवाई नहीं हुई है।


बीकानेर के10, झुंझुनूं का एक खिलाड़ी
इस साइकिल एकेडमी में 11 खिलाड़ी हैं। इनमें एक खिलाड़ी झुंझुनूं से व दस खिलाड़ी बीकानेर व आस-पास के ग्रामीण इलाकों से हैं। खिलाडि़यों के लिए सरकार की ओर से खाना, रहना तथा साइकिलें और अन्य उपकरण दिए जाते हैं। एकेडमी में 14 से 17 वर्ष आयु वर्ग तक के खिलाड़ी हैं।


हाइवे पर जोखिम भरा है साइक्लिंग का अभ्यास
खिलाड़ी यहां कई सालों से हाइवे पर साइक्लिंग का अभ्यास कर रहे है। वे रोजाना ६० से ७० किलोमीटर साइकिल चलाते हैं। रोजाना सुबह ७ बजे से १० बजे तक जैसलमेर रोड पर अभ्यास करते हैं। एेसे में इन खिलाडि़यों के लिए हाइवे पर अभ्यास करना जोखिम भरा रहता है।


अभ्यास के लिए जयपुर जाने को मजबूर
बीकानेर में साइकिल वेलोड्रम नहीं होने से साइक्लिंग खिलाड़ी अभ्यास के लिए जयपुर जाने को मजबूर हैं। जब भी ट्रैक साइक्लिंग प्रतियोगिताएं होती हैं, तो यहां के खिलाड़ी जयपुर के साइकिल वेलोड्रम में जाकर अभ्यास करते हैं।


प्रस्ताव भेजा
साइकिल एकेडमी के खिलाडि़यों की आवास व्यवस्था के लिए सरकार को प्रस्ताव भेजा हुआ है। साइकिल एकेडमी की आवासीय व्यवस्था डॉ. करणी सिंह स्टेडियम में करने का प्रस्ताव भेजा है।
हरिराम चौधरी, जिला खेल अधिकारी, बीकानेर

वेलोड्रम जरूरी
साइकिल एकेडमी खोलने के साथ ही बीकानेर में अगर साइकिल वेलोड्रम भी खुल जाए तो साइक्लिंग में खिलाड़ी बेहतर प्रदर्शन कर पाएंगे जिसका लाभ जिले सहित देश प्रदेश को मिलेगा।
किशन कुमार पुरोहित, पूर्व संयुक्त सचिव, भारतीय साइक्लिंग महासंघ

Atul Acharya Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned