scriptBikaner Foundation Day | प्रीत की रीत और राज का भय ... ऐसा था रियासतकालीन बीकाणा | Patrika News

प्रीत की रीत और राज का भय ... ऐसा था रियासतकालीन बीकाणा

बीकानेर नगर स्थापना -आज भी मन मस्तिक पर छाई है बीकानेर रियासत की यादें

बीकानेर

Updated: May 02, 2022 11:27:22 am

विमल छंगाणी
बीकानेर. रियासतकाल के साक्षी रहे लोग आज भी राजा-महाराजाओं के शासन के दौर को याद कर पुरानी स्मृतियों में खो जाते है। देश की आजादी के बाद शहर के बदले माहौल, हुए शहर के विकास और शासन-प्रशासन के प्रति बने लोगों के नजरिए को देख ये बुजुर्ग बीकानेर रियासत की पुरानी यादों में खो जाते है। ये बताते है कि राजा-महाराजाओं का दौर आज से अच्छा था। लोगों में राज का भय था। लोग अनुशासित थे। आपसी प्रेम-भाईचारा देखते ही बनता था। लोग एक दूसरे के सुख-दुख में काम आते थे। फिजुलखर्ची और दिखावा नहीं था।मोटा खाना और मोटा कपड़ा पहनना था। गली, मौहल्लों, पाटो, चौकियों पर रहती थी रौनक।

प्रीत की रीत और राज का भय ... ऐसा था रियासतकालीन बीकाणा
प्रीत की रीत और राज का भय ... ऐसा था रियासतकालीन बीकाणा

होती थी सुनवाई, नहीं थी बदमाशी

बीकानेर रियासतकाल के साक्षी रहे 94 वर्षीय कन्हैया लाल ओझा बताते है कि उस दौर में आमजन की सुनवाई होती थी। महाराजा स्वयं प्रजा का ध्यान रखते थे। राज का भय इतना था कि बदमाश प्रवृत्ति के लोग भयभीत रहते थे। लोगों में राज का भय था। लोग सरल और साधारण थे।दिखावा कम था। लोग एक-दूसरे का ध्यान रखते थे। रात को परकोटे के सभी गेट और बारिया बंद हो जाते थे।

पहलवानी का जुनून, अखाड़ों का चलन

ओझा के अनुसार उस दौर में लोगों में पहलवानी को लेकर जुनून अधिक था। शहर में जगह-जगह अखाड़ों का संचालनन होता था। अखाड़ों में कुश्तियों के दौर चलते रहते थे। लोग अपने स्वास्थ्य को लेकर अधिक सतर्क थे। कुए, तालाब और बावड़ी ही पानी के साधन थे। महिलाओं की इज्जत अधिक थी। घी, दूध और छाछ की प्रचुरता थी। लोग प्रीत निभाने वाले थे। गली-मोहल्लों में बच्चे पारम्परिक खेलों में व्यस्त रहते थे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीचंडीमंदिर वेस्टर्न कमांड लाए गए श्योक नदी हादसे में बचे 19 सैनिकआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितराहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा - 'नेहरू ने लोकतंत्र की जड़ों को किया मजबूत, 8 वर्षों में भाजपा ने किया कमजोर'Renault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चIPL 2022, RR vs RCB Qualifier 2: राजस्थान ने बैंगलोर को 7 विकेट से हराया, दूसरी बार IPL फाइनल में बनाई जगहपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.