15 सूत्री मांगों को लेकर कर्मचारियों ने किया प्रदर्शन

15 सूत्री मांगों को लेकर कर्मचारियों ने किया प्रदर्शन

By: dinesh swami

Published: 16 Sep 2021, 06:39 PM IST

बीकानेर. राज्य सरकार की ओर से कर्मचारियों के प्रशासनिक एवं वित्तीय हितों पर कुठाराघात एवं वादा खिलाफ ी के विरोध में अखिल राजस्थान राज्य कर्मचारी संयुक्त महासंघ के प्रान्तीय आह्वान पर मंगलवार को जिला शाखा की ओर से जिला कलक्टर कार्यालय के समक्ष प्रदर्शन किया गया। इस दौरान जिला कलक्टर को १५ सूत्री मांगों का ज्ञापन भी दिया गया।महासंघ के जिला अध्यक्ष पृथ्वीराज लेघा ने कहा कि महासंघ का 15 सूत्री मांग पत्र गत 3 वर्षो से लम्बित है। सरकार के द्वारा एक बार भी महासंघ के साथ द्विपक्षीय वार्ता आयोजित नहीं की गई।


जिला महामंत्री देवराज जोशी ने 2017 में सातवां वेतन आयोग लागू करने एवं राज्य के कार्मिकों की अन्य वेतन विसंगतियों को सुनकर दूर करने के लिए गठित डी सी सामंत कमेटी की रिपोर्ट को लेकर कर्मचारी असमंजस में है।
कर्मचारी नेता पवन दान चारण ने राज्य सरकार के अधीन संविदा, ठेकाकमी, कम्प्यूटरकर्मी, ऑंनबाड़ी कार्यकर्ता आदि को नियमित करने की मांग की। शिक्षक नेता आनन्द पारीक ने विभिन्न विभागों में समस्त संवर्गो के रिक्त पदों पर शीघ्र भर्ती करने व समयबद्ध पदोन्नति करने की मांग की।


संजय पुरोहित ने ग्रामीण क्षेत्र के कार्मिकों को मूल वेतन का 10 प्रतिशत ग्रामीण भत्ता स्वीकृत करने तथा पुरानी पेंशन स्कीम लागू करने की मांग की है। प्रदर्शन में देवेन्द्र जाखड़, भंवर सांगवा, यतीश वर्मा, गोविन्द भार्गव, मालाराम चौधरी, किशनाराम, निजामुदीन, हिमांशु शर्मा, विक्रम प्रजापत, चांदरतन सोलंकी, मोहम्मद असलम आदि कर्मचारी नेता शामिल हुए। लेघा ने बताया कि 24 सितम्बर को प्रदेश पर में कर्मचारी विरोध दिवस के रूप में मनाएंगे।

dinesh swami Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned