इनका दर्द न जाने कोय...

पीबीएम अस्पताल में मरीज गर्मी से परेशान

 

By: Atul Acharya

Published: 16 Sep 2021, 07:07 PM IST

बीकानेर. गर्मी व उमस से लोग बेहाल है। कूलर-पंखे भी राहत नहीं दे रहे। ऐसी स्थिति में पीबीएम अस्पताल के कई वार्डों में पंखें तक चालू नहीं है। कूलर लगे हुए नहीं है। जहां वातानुकूलित संयंत्र लगे हैं, वे केवल शो-पीस बन कर रह गए हैं। मरीजों की पीड़ा को महसूस करने वाला कोई नहीं है। यह हालात पीबीएम अस्पताल से संबद्ध चुन्नीलाल सोमानी राजकीय ट्रोमा सेंटर के है। कमोबेश यह हालात ट्रोमा सेंटर के ही नहीं अधिकांश वार्डों के हैं। पीबीएम प्रशासन इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहा है।


परिजनों ने अपने स्तर पर कर रखी व्यवस्था
गर्मी व उमस से बचने के लिए मरीजों-परिजनों ने अपने स्तर पर व्यवस्था कर रखी है। कोई टेबल तो कोई छोटा कूलर लेकर आया हुआ है। एक मरीज के परिजन शिवशंकर छंगाणी बताते हैं कि गर्मी व उमस में आम आदमी बेहाल है। ऐसे में यहां वार्ड में भर्ती प्लाटर व बिना प्लास्टर वाले मरीजों की हालत खराब हो रही है। अस्पताल प्रशासन एसी तो दूर पंखे तक चालू नहीं करवा रहा है।

बिजली का लोड अधिक
अस्पताल सूत्रों के अनुसार ट्रोमा सेंटर में बिजली का लोड अधिक होने से आए दिन बिजली आपूर्ति प्रभावित होती है। इसलिए एकबारगी एसी की लाइनों को बिजली से जोड़ा नहीं गया है। ट्रोमा सेंटर के लिए अलग से बिजली लाइन डलवाई जा रही है।

बंद हैं एसी-पंखे
ट्रोमा सेंटर के प्रथम मंजिल पर महिला व पुरुष वार्ड एवं एक बरामद बना हुआ है। महिला-पुरुष वार्ड में छह-छह एसी व १२ पंखे लगे हुए हैं लेकिन कोई भी चालू नहीं है। वार्डों के आगे बने बरामदे में पांच पंखे लगे हुए हैं लेकिन केवल तीन ही चल रहे हैं। इतनी गर्मी मेंं मरीजों-परिजनों के साथ-साथ स्टाफ की हालत खराब है।

Atul Acharya Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned