पौधों से महक रही नर्सरियां, बागवानी के लिए वरदान बना मौसम

पौधों से महक रही नर्सरियां, बागवानी के लिए वरदान बना मौसम

By: Atul Acharya

Published: 13 Sep 2021, 06:25 PM IST

बीकानेर. जिले में इन दिनों हो रही बारिश से पेड़-पौधे खिल उठे हैं। बागवानी का शौक रखने वालों के लिए यह मौसम वरदान है। खासकर किचन गार्डन विकसित करने के लिए बेहतर समय है। इसके साथ ही काश्तकार भी फल, सब्जियों के पौधों का रोपण कर सकते हैं। बारिश के बाद वन विभाग की नर्सरियां चहक रही है, तो शहर में जगह-जगह स्थापित निजी नर्सरियों में भी अलग-अलग प्रजातियों के पौधों की महक है। तेज धूप से मुरझा रहे पौधों पर बारिश का पानी लगते ही जान आ गई है।


करें किचन गार्डन विकसित
बागवानी के लिए लोग आजकल घरों में गार्डन विकसित करते है। बागवानी के जानकारों की माने
तो यह मौसम इसके लिए सबसे बेहतर है। इसमें अपने घरों के बागीचों में शीशम, नीम, बकायान, सेंजना सहित पौधे लगा सकते है। जो पानी मिलते ही बढ़वार लेते है। इसके साथ ही संतरा, माल्टा, मौसमी व नीम्बू सरीखे फलदार पौधे लगाने के लिए अब उपयुक्त समय है।


खेतों में फलदार पौधे
इस मौसम में काश्तकार अपने खेतों में भी फलदार पौधे रोपित कर सकते हैं। इसमें बेलपत्र, आंवला, खजूर, अनार, बेर सरीखे फलदार पौधों का रोपण कर सकते हैं। इसके लिए किसान कैचुआ खाद व दवा डाल सकते हैं। ताकि यह फलदार पौध जल्द ही पनप सकते हैं। इसके साथ ही काश्तकार इन दिनों फूलगोभी, पत्तागोभी, प्याज सहित सब्जियों के पौधे भी लगा सकते हैं।


बागवानी के लिए उत्तम समय
यह मौसम बागवानी के लिए उत्तम है। किसान खेतों में सब्जियां, फलदार पौधे रोपित करें, तो आगे उन्हें फायदा होगा। वहीं घरों के बागीचे, किचन गार्डन के लिए भी खुशबूदार, फूलदार और फलदार पौधे भी लगा सकते हैं।
इंद्रमोहन वर्मा, बागवानी विशेषज्ञ, बीकानेर

Atul Acharya Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned