टूटे तार की चपेट में आने से युवक की मौत

टूटे तार की चपेट में आने से युवक की मौत

Atul Acharya | Publish: May, 15 2019 06:30:11 AM (IST) Bikaner, Bikaner, Rajasthan, India

आक्रोशित ग्रामीणों ने जताया रोष, कनिष्ठ अभियंता के निलम्बन के आश्वासन पर माने ग्रामीण

 

महाजन. कृषि कुओं को जाने वाली सिंगल फेस विद्युत लाइन के टूटे तार की चपेट में आने से मंगलवार सुबह एक युवक की मौत हो गई। हादसे के बाद गुस्साए ग्रामीणों ने कनिष्ठ अभियंता व हरियासर जीएसएस में कार्यरत कर्मचारियों को निलम्बित करने व पीडि़त परिवार को ५० लाख रुपए की सहायता के साथ मृतक की पत्नी को सरकारी नौकरी देने की मंाग की। बाद में निगम के अधिशासी अभियंता केसी बिश्नोई से हुई वार्ता में ग्रामीण मान गए।

 

जानकारी के अनुसार पीपेरां निवासी युवक छोटूराम ब्राह्मण मंगलवार सुबह करीब पौने छह बजे मोटरसाइकिल पर चक ७ बीएचएम की रोही स्थित अपने खेत जा रहा था। रास्ते में उच्च क्षमता की विद्युत लाइन के टूटे तार में करंट प्रवाहित हो रहा था। इस दौरान तार की चपेट में आने से छोटूराम की मौके पर ही मौत हो गई। हादसे की सूचना मिलने पर पीपेरां व कपूरीसर के जनप्रतिनिधि व ग्रामीण मौके पर पहुंच गए। सूचना मिलने पर महाजन पुलिस भी मौके पर पहुंची व शव को महाजन अस्पताल के मुर्दाघर में रखवाया। कुछ देर में ही महाजन अस्पताल में बड़ी संख्या में पीपेरां, कपूरीसर व महाजन के ग्रामीण एकत्रित हो गए। ग्रामीणों ने विद्युत निगम के कर्मचारियों व अधिकारियों पर लापरवाही का आरोप लगाकर रोष प्रकट किया। अस्पताल पहुंचे लूणकरनसर सहायक अभियंता सोनम दत्ता के सामने भी लोगों ने रोष जताकर संवेदनहीनता का आरोप लगाया।

 

 

दोपहर करीब पौने बारह बजे बीकानेर से अधिशासी अभियंता केसी बिश्नोई महाजन अस्पताल पहुंचे व मौके पर जनप्रतिनिधियों व ग्रामीणों से वार्ता की। ग्रामीणों ने बताया कि सोमवार रात से ही तार टूटा था लेकिन कर्मचारियों ने ध्यान नहीं दिया। ग्रामीणों ने पीडि़त परिवार को ५० लाख का मुआवजा व मृतक के परिवार से एक सदस्य को नौकरी देने की मांग रखी। अधिशासी अभियंता बिश्नोई ने निगम के नियमानुसार ५ लाख रुपए का भुगतान एक माह में पीडि़त परिवार को करवाने का भरोसा दिलाया। जनप्रतिनिधि व ग्रामीण लापरवाही बरतने वाले कनिष्ठ अभियंता लिखमीचन्द सैनी को निलम्बित करने की मांग पर अड़ गए। बिश्नोई ने निगम के अधीक्षण अभियंता से फोन पर वार्ता कर मामले की जानकारी दी। बिश्नोई ने बताया कि कनिष्ठ अभियंता को निलम्बित करने के लिए रिपोर्ट तैयार कर डिस्कॉम मुख्यालय जोधपुर भेज दी जाएगी।

 

 

बिश्नोई ने कनिष्ठ अभियंता मोतीपुरी को क्षेत्र में जर्जर लाइनों व क्षतिग्रस्त पोल की रिपोर्ट तैयार करने की जिम्मेदारी सौंपी। साथ ही जीएसएस पर अव्यवस्था में सुधार के लिए स्टिंग ऑपरेशन करने का भरोसा दिलाया। प्रतिनिधिमण्डल में प्रभुदयाल सारस्वत, कपूरीसर सरपंच मुरलीधर सारस्वत, पूर्व उपप्रधान शिवरतन शर्मा, धर्मवीर गोदारा, मदनदास स्वामी, बद्रीप्रसाद तावणियां, राजूराम शर्मा, राजेन्द्र ओझा सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण शामिल हुए।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned