खम्भे से प्रकट हुए भगवान नृसिंह

मंदिरों में दिनभर चला पूजा-अर्चना का दौर, नृसिंह मूर्तियों का किया पंचामृत से अभिषेक

 

By: Atul Acharya

Published: 18 May 2019, 10:17 AM IST

बीकानेर. 'हिरणा किसना गोविन्दा प्रहलाद भजैÓ, ' भक्त प्रहलाद और भगवान नृसिंहÓ के जयकारों से शुक्रवार को शहर के गली-मोहल्ले गुंजायमान रहे। यह अवसर था शहर में जगह-जगह हुए नृसिंह महोत्सव का। नृसिंह जयंती पर शहर के कई स्थानों पर भगवान नृसिंह और हिरण्यकश्यप के बीच हुए युद्ध की लीलाओं का मंचन हुआ और मेले भरे। भक्त प्रहलाद की पुकार पर खंभे से प्रकट हुए नृसिंह भगवान ने मंदिरों के आगे सूर्यास्त के समय हिरण्यकश्यम का वध किया। हिरण्यकश्यप का वध होते ही पूरा मोहल्ला भगवान नृसिंह और भक्त प्रहलाद के जयकारों से गूंज उठा। श्रद्धालुओं ने भगवान नृसिंह की आरती की। इस दौरान पंचामृत और प्रसाद का वितरण किया गया।

 


इससे पहले काला मुखौटा, काले वस्त्र धारण किए और हाथ में कपडे़ से बना कोडा लिए हिरण्यकश्यप ने शहर में हर किसी को डराया-धमकाया। मंदिरों के आगे पाटे पर विराजमान बाल स्वरूप भक्त प्रहलाद के हर किसी ने पांव छुए और आशीर्वाद लिया। नृसिंह -हिरण्यकश्यप युद्ध को देखने के लिए बड़ी संख्या में शहरवासी मौजूद रहे। नगाड़ों की लयबद्ध आवाजों पर नाचते रहे हिरण्यकश्यप ने खूब दंभ दिखाया। भगवान नृसिंह ने हिरण्यकश्यप के दंभ को चूर करते हुए उसका वध किया। दोपहर में बच्चों ने छोटे हिरणयकश्यप का रूप धारण किया और लोगों को डराया-धमकाया।

 

 

हुए अभिषेक-पूजन
नृसिंह जयंती पर शहर में स्थित विभिन्न नृसिंह मंदिरों में सुबह से देर रात तक दर्शन, पूजन, शृंगार और पंचामृत अभिषेक के आयोजन हुए। श्रद्धालुओं ने भगवान नृसिंह की मूर्तियों का पंचामृत से अभिषेक कर पूजन किया। दर्शनों के लिए दिनभर श्रद्धालुओं की लम्बी कतारें लगी रही। इस दौरान मंदिरों को विभिन्न प्रकार के पुष्पों से सजाया गया। व्रतधारी श्रद्धालुओं ने देर शाम बाद व्रत का पारणा किया। घरों में भी भगवान नृसिंह की पूजा-अर्चना कर आरती की गई। नृसिंह कचव, श्री लक्ष्मी नृसिंह स्त्रोत का वाचन किया गया।

 

 

यहां हुई लीला
शहर में डागा चौक, लखोटिया चौक, लालाणी व्यास चौक, मनावतों को मोहल्ला, दुजारी गली, दम्माणी चौक, नत्थूसर गेट, फरसोलाई तलाई क्षेत्र, गोगागेट के बाहर स्थित ऋग्वेदी ब्राह्मण गायत्री मंदिर में नृसिंह महोत्सव के आयोजन हुए। लोगों ने भगवान नृसिंह, हिरण्यकश्यप और भक्त प्रहलाद की भूमिकाएं निभाई।

Atul Acharya Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned