बीकानेर. 'बेगि हरो हनुमान महाप्रभु जो कुछ संकट होय हमारो, को नहिं जानत है जग में कपि संकटमोचन नाम तिहारो। हनुमान जयंती पर शुक्रवार को जयकारों से मंदिर गूंज उठे। इस अवसर पर हनुमान मंदिरों में विशेष अनुष्ठान हुए। सुंदरकांड पाठ, हनुमान चालीसा पाठ की दिनभर गूंज रही। मंदिरों में दर्शनार्थियों की लंबी कतारें रही। केक काटकर खुशियां मनाई गई। दोपहर, शाम व रात को विशेष आरती हुई। हनुमानजी के चूरमा, खीर सहित कई व्यजंनों का भोग लगाया गया। रात को जागरण हुए। रतन बिहारी पार्क के पास बड़ा हनुमानजी मंदिर, ढोलामारु के सामने हनुमान मंदिर, जस्सोलाई क्षेत्र के हनुमान मंदिर, नत्थूसर गेट बाहर नारसिंह हनुमान, जूनागढ़ स्थित चंचल हनुमान, मुक्ता प्रसाद सहित मंदिरों में विशेष अनुष्ठान हुए। मंशापूर्ण हनुमान मंदिर में हनुमानजी की प्रतिमा का विशेष शृंगार किया गया। सुबह साढ़े सात, दोपहर 12, शाम साढ़े सात बजे आरती की गई। केक काटा गया और प्रसादी वितरित की गई।

शाम को महाआरती
रतनबिहारी पार्क के सामने संकटमोचन मंशापूर्ण हनुमान मंदिर में सुबह साढ़े पांच बजे पहली आरती की गई। शाम सवा सात बजे महाआरती हुई। दर्शन के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु उमड़े। केक
काटा गया। पुजारी कैलाश नारायण, रामेश्वर, महेश स्वामी ने शृंगार के बाद आरती की और प्रसाद वितरित किया।

 

मेवों से शृंगार
मोहता चौक स्थित मंदिर में हनुमानजी की प्रतिमा का सूखे मेवों से शृंगार किया गया। पुजारी झंवरलाल ओझा ने आरती की। महाप्रसादी २८ अप्रेल को होगी। चौथानी ओझा चौक स्थित दक्षिणेश्वर हनुमान मंदिर में शृंगार पूजन किया गया। विप्र फाउण्डेशन महिला प्रकोष्ठ ने पुरानी गिन्नाणी में सुंदरकांड पाठ किए।

 

मेले सा माहौल
पूगल रोड स्थित बजरंग धोरे पर मेले सा माहौल रहा। प्रधान पुजारी ओमप्रकाश दाधीच ने बताया कि दोपहर 12 बजे महा आरती की गई। शाम को 7:45 बजे आरती हुई। हनुमानजी की प्रतिमा का विशेष शृंगार (अंगी) किया गया। हनुमानजी के ३51 किलो बूंदी का भोग लगाया गया। सचिव आशीष दाधीच ने बताया कि छप्पन भोग भी लगाया गया।

 

सजीव झांकियां
शास्त्री नगर डुप्लेक्स कॉलोनी में श्री वीर हनुमान वाटिका समिति के तत्वावधान में हनुमान प्रतिमा का विशेष शृंगार किया गया। शाम को पूजा के बाद भजन संध्या हुई। समिति सचिव छाया गुप्ता ने बताया कि इसमें जोधपुर के कलाकार संजय एंड पार्टी ने भजनों की प्रस्तुतियां दी। सजीव झांकियां मुख्य आकर्षण रही।

 

पंचामृत से अभिषेक
पुष्करणा स्टेडियम के पीछे रघुनाथ मंदिर में हनुमानजी का पंचामृत से अभिषेक किया गया। पंडित महेन्द्र व्यास, पंडित श्रीकांत जोशी के सान्निध्य में हनुमानजी की प्रतिमा का शृंगार कर पूजन किया गया। शाम को महाआरती हुई। साथ ही संगीतमय सुंदरकांड पाठ हुए। शाम को महाप्रसाद का वितरण हुआ।

 

हवन और जागरण
गंगाशहर, किसमीदेसर, श्रीरामसर आदि क्षेत्रों में धार्मिक अनुष्ठान हुए। इस मौके पर हनुमान चालीसा, सुंदरकांड, अखंड रामचरित मानस पाठ और जागरण हुए। श्रद्धालुओं ने हवन में आहुतियां दी। गंगाशहर के कंकड़ वाले बालाजी मंदिर, भीनासर के मुरली मनोहर मंदिर, सुजानदेसर के मीराबाई धोरे पर हनुमान मंदिर में विशेष पूजा-अर्चना की गई।

 

 

पूनरासर में लगा भक्तों का तांता

 

श्रीडूंगरगढ़ . पूनरासर धाम में हनुमान जयंती पर दो दिवसीय मेले में शुक्रवार को श्रद्घालुओं का तांता लगा रहा। मंदिर परिसर में दिनभर 'जय हनुमान एवं जय बाबे री गूंज होती रही। हाथों में ध्वजा, सिर पर लाल पट्ïटी व टोपी पहने युवा, बुजुर्ग, महिलाएं एवं बच्चों का पूनरासर धाम पहुंचने का सिलसिला दिनभर जारी रहा। सेरूणा-पूनरासर मार्ग एवं अन्य कच्चे मार्गों पर पिछले दो दिनों से श्रद्घालुओं की रेलमपेल लगी रही। बाबा के दर्शन के लिए गांव में पुलिस एवं प्रशासन ने श्रद्घालुओं को पंक्तिबद्घ दर्शन कराने की व्यवस्था की। भक्तों की भीड़ को देखते हुए यहां अतिरिक्त पुलिस बल भी तैनात किया गया। इस मेले में मन्दिर से कई दूर वाहनों का ठहराव स्थल बनाया गया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned