बीकानेर : बिटिया @ work ....

बीकानेर. अनुभव और कार्य को नजदीक से देखने का अवसर जीवन का सुखद पहलु बन गया
बेटियों का अपने पैरेंट्स के ऑफिस जाना खास अनुभूति रही। जहां एक तरफ उन्होंने अपने माता-पिता के काम को समझा, वहीं कार्यस्थल पर होने वाली चुनौतियों को भी समझना उनके लिए खास अनुभव रहा।
ऑफिस : राजावत सेविंग कन्सल्टेन्सी
बिटिया का नाम : कृतिका राजावत
पिता का नाम : जितेन्द्रसिंह राजावत
बीमा, इन्वेटमेंट यह सब आम आदमी के जीवन में किस तरह महत्वपूर्ण है यह आज पापा से जाना। -कृतिका

ऑफिस : शिल्पा ट्रेडर्स
बिटिया का नाम : मान्या बांठिया
पिता का नाम : जितेश बांठिया
समय अनुसार चलने वाले ही सफलता प्राप्त करते है, पूरी तन्मयता से कार्य का परिणाम ही हमारी साख है। पापा से बहुत कुछ सीखने को मिला। ग्राहकों को संतुष्टि प्रदान करने के लिए भी पापा द्वारा बहुत ही कुशलता से कार्य किया जाता है। -मान्या

ऑफिस : अध्यापक
बिटिया का नाम : सौम्या शर्मा
पिता का नाम : सुशील कुमार शर्मा
ंमुझे मेरे पापा पर बहुत गर्व है। उन्होंने मुझे हर समय अच्छा मार्गदर्शन दिया है जिससे मैं आगे बढ़ूंगी। -सौम्या

ऑफिस : सूर्या पब्लिक सैकण्डरी स्कूल, श्रीडूंगरगढ़
बिटिया का नाम : नेहा, वंदिता स्वामी
पिता का नाम : मूलचंद स्वामी
आज पापा की स्कूल ऑफिस में जाकर बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम एवं प्रबंधन के बारे में जाना। इसके अलावा प्रवेश प्रकिया के बारे में जानकारी ली। साथ ही शिक्षा का महत्व की परिभाषा भी सीखी।
- नेहा, वंदिता

ऑफिस : भोज प्रिन्टिंग वक्र्स
बिटिया का नाम : उर्मिला सोलंकी, प्रमिला सोलंकी
पिता का नाम : जितेन्द्र सोलंकी
प्रिन्टिंग की कार्यप्रणाली को समझा। यह भी समझा की कैसे प्रिन्टिंग का कार्य बारीकी से किया जाता है
-उर्मिला, प्रमिला

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned