पीबीएम में लपकों की भरमार, हर दिन कर रहे मरीजों से ठगी

अस्पताल और पुलिस प्रशासन की उदासीनता

By: Jaiprakash

Published: 09 Apr 2021, 10:18 AM IST

बीकानेर. पीबीएम अस्पताल में लपकों की भरमार है। हर दिन मरीजों से ठगी कर रहे हैं। अस्पताल प्रशासन और पीबीएम पुलिस चौकी के पास शिकायतें पहुंचने के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं करने से लपकों को हौसले बढ़ रहे हैं। नतीजन लपकों पर कार्रवाई नहीं होने से आए दिन मरीज-परिजनों के साथ जांच कराने, दवा दिलाने के नाम पर ठगी की जा रही है।
गुढ़ा निवासी सीमा जनाना अस्पताल में भर्ती है। मंगलवार को वार्ड में एक युवक आया और उसकी सोनोग्राफी सहित अन्य जांचें कराने के लिए निजी लैब पर ले गया। यहां उसने सीमा के परिजन भगवानाराम से तीन हजार रुपए की मांग की। भगवानराम के पास रुपए नहीं थे। इस पर युवक ने उसके भाई और बाद में सीमा के ससुर को फोन कर रुपए मांगें। वह भगवानाराम व भंवरराम को पंचशति सर्किल स्थित एक निजी लैब के पास छोड़कर पीबीएम गया और सीमा के ससुर से तीन हजार रुपए ले गया। बाद में उसने न जांच कराई और ना ही रुपए लेकर उनके पास गया।


पीडि़त की जुबानी...
गुढ़ा निवासी मरीज के परिजन भगवानाराम ने बताया कि वार्ड में आए युवक ने जांचें कराने के लिए पंचशति सर्किल पर लग गया। यहां रुपयों की मांग की। बाद में वह समधि पन्नाराम से तीन हजार रुपए ले गया। काफी देर तक वह नहीं आया। आरोपी युवक के बारे में पता किया लेकिन वह नहीं मिला। बाद में पता चला कि वह कोई ठग था।


परिजन के रुपए चोरी
पीबीएम अस्पताल के ट्रोमा सेंटर में मंगलवार को एक परिजन के रुपए चोरी हो गए। हुआ यूं कि सावित्री का भाई यहां उसे दिखाने पहुंचा था। पैर में चोट लगी होने से वह लाइन में लगा था। इस दरम्यिान किसी ने उसकी जेब से पर्स निकाल लिया। पर्स में आधार कार्ड व पांच हजार रुपए थे। जब वह डॉक्टर को दिखाने के बाद दवा लेने गया तो उसे जेब मेें पर्स नहीं होने का पता चला। तब उसने वहां मौजूद सुरक्षाकर्मियों से शिकायत की भी।


प्याऊ से टोंटी, व मोटर गायब
पीबीएम अस्पताल के नई ओपीडी विंग के पास भामाशाह की ओर से पिछले वर्ष मरीजों-परिजनों के लिए ठंडे पानी की प्याऊ शुरू की गई। अस्पताल प्रशासन ने प्याऊ की कोई सांर-संभाल नहीं की। अब प्याऊ से समाजिक तत्व पाइप, टोंटी व मोटर भी ले गए हैं, जिससे यह प्याऊ बंद पड़ी है।


कम्प्यूटर चोरी का नहीं सुराग
पीबीएम अस्पताल के पूछताछ के सामने से करीब एक माह पहले कमरे से कम्प्यूटर चोरी के मामले में भी कुछ नहीं हुआ है। पीडि़त कर्मचारी ने शिकायत ही नहीं की। ऐसे में उस चोरी पर भी पर्दा गिर गया है। पीबीएम अस्पताल में आए दिन कोई न कोई सामान गायब हो रहा है। अस्पताल प्रशासन की उदासीनता के चलते लपकों व नकबजन पीबीएम में सक्रिय है।

Jaiprakash Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned