scriptbikaner news hindi news border news 10101 | खेती से खुशहाल राजस्थान, सरहद पार सूखा पाकिस्तान | Patrika News

खेती से खुशहाल राजस्थान, सरहद पार सूखा पाकिस्तान

खेती से खुशहाल राजस्थान, सरहद पार सूखा पाकिस्तान

बीकानेर

Published: February 23, 2022 11:14:38 am

दिनेश कुमार स्वामी
खाजूवाला (बीकानेर). राजस्थान सरकार का पहला कृषि बजट बुधवार को आ रहा है। प्रदेश के कृषि प्रधान श्रीगंगानगर-हनुमानगढ़ के साथ बीकानेर भी जुड़ गया है। इंदिरा गांधी नहर परियोजना का पानी अब भारत-पाकिस्तान बॉर्डर तक रेतीले धोरों को समतल कर सरसब्ज कर रहा है। खेती से खुशहाल राजस्थान का नजारा भारत-पाकिस्तान बॉर्डर पर भी दिखता है। जहां तारबंदी के इस तरफ हरे-भरे खेतों में लहलहाती फसलें नजर आ रही हैं। वहीं दूसरी तरफ पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान में ऊंचे रेत के टीले और बंजर जमीन पर सूखे झाड़-झंखाड़ ही दिखाई पड़ते हैं।
खेती से खुशहाल राजस्थान, सरहद पार सूखा पाकिस्तान
खेती से खुशहाल राजस्थान, सरहद पार सूखा पाकिस्तान
१०३७ किलोमीटर लम्बी सीमा

पाकिस्तान से प्रदेश की १०३७ किलोमीटर लम्बी सीमा लगती है। नब्बे के दशक में जब बॉर्डर पर तारबंदी की गई, अधिकांश इलाका रेगिस्तानी धोरों वाला था। पंजाब के बाद राजस्थान में पश्चिमी सीमा पर श्रीगंगानगर जिले का महज ५०-६० किलोमीटर तक का क्षेत्र ही समतल था। जहां गंगनहर परियोजना का पानी खेतों तक पहुंच रहा था। इसके बाद रायसिंहनगर, अनूपगढ़ और खाजूवाला क्षेत्र में सीमावर्ती एरिया में नहरी पानी पहुंच तो रहा था लेकिन बॉर्डर के नजदीक रेतीला और अनकमांड एरिया ही था।
तारबंदी के पार भी जाते हैं किसान

श्रीगंगानगर जिले से लगते बॉर्डर और बीकानेर जिले के कुछ हिस्से में बॉर्डर पर तारबंदी के पार की भारतीय जमीन पर भी किसान खेती करते हैं। तारबंदी में थोड़ी-थोड़ी दूरी पर गेट लगे हुए हैं। जहां से सुबह ६ बजे से शाम ५ बजे के बीच किसानों को खेती करने के लिए जाने दिया जाता है। तारबंदी और जीरो लाइन (भारत-पाकिस्तान को विभाजन करने वाली लाइन) के बीच करीब पांच सौ मीटर भूमि भारत की है। जिसकी निगरानी बीएसएफ करती है। इसी भूमि पर किसान खेती करते हैं।
भूमिपुत्र के पसीने से बदली तस्वीर

श्रीगंगानगर जिले से लगते २११ किलोमीटर और बीकानेर से लगते १६० किलोमीटर लंबे बॉर्डर पर अब भौगोलिक स्थिति बदली नजर आने लगी है। पहले रेतीले टीले होने से यहां पर भी बीएसएफ को ऊंटों पर गश्त करनी पड़ती थी। अब किसानों ने पसीना बहाकर जमीन को समतल कर दिया है। सिंचाई पानी मिलने से लगातार कई साल खेती कर रहे होने से अब सिंचिंत क्षेत्र की फसलें गेहूं और सरसों तक की बुवाई तारबंदी के नजदीक तक होने लगी है। बीकानेर से आगे जैसलमेर और बाड़मेर से लगते ६६६ किलोमीटर लंबे बॉर्डर पर आज भी रेतीले धोरे हैं।
सीमावर्ती क्षेत्र के लिए कृषि बजट में हो प्रावधान

सीमावर्ती किसान पुरुषोतम सारस्वत कहते हैं कि सीमावर्ती किसान पंजाब में बॉर्डर पर खेती करने वाले किसान को एक हजार रुपए प्रति एकड़ सालाना की दर से मुआवजा दिया जाता है। हालांकि यह मुआवजा तारबंदी के अंदर आई जमीन के किसानों को ही मिलता है। राजस्थान सरकार को भी कृषि बजट में विषम परिस्थितियों में बॉर्डर पर खेती करने वाले किसानों को प्रति एकड़ सालाना मुआवजा देना चाहिए। तारबंदी से एक किलोमीटर भारतीय सीमा में खेती करने वाले किसानों के लिए सरकार को कृषि बजट में प्रावधान करना चाहिए

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: अपनी पत्नी पर खूब प्रेम लुटाते हैं इस नाम के लड़केबगैर रिजर्वेशन कर सकेंगे ट्रेन में यात्रा, भारतीय रेलवे ने जारी की सूचीनाम ज्योतिष: इन 3 नाम की लड़कियां जहां जाती हैं वहां खुशियों और धन-धान्य के लगा देती हैं ढेरजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंधन के देवता कुबेर की इन 4 राशियों पर हमेशा रहती है कृपा, अच्छा बैंक बैलेंस बनाने में रहते है कामयाबआपके यहां रहता है किराएदार तो हो जाएं सावधान, दर्ज हो सकती है एफआईआर24 हजार साल ठंडी कब्र में दफन रहा फिर भी निकला जिंदा, बाहर आते ही बना दिए अपने क्लोनअंक ज्योतिष अनुसार इन 3 तारीख में जन्मे लोगों के पास खूब होती है जमीन-जायदाद

बड़ी खबरें

महंगाई की मार! सरकार के इस फैसले से लगेगा तगड़ा झटका, 1 जून से महंगी हो जाएगी कार-बाइक की खरीदारीबंगाल के राज्यपाल के निशाने पर ममता बनर्जी के भतीजे, कहा - 'अभिषेक बनर्जी ने पार की लक्ष्मण रेखा'Haryana Congress Rally: पूर्व CM भूपेंद्र सिंह हुड्डा का बड़ा ऐलान- हमारी सरकार बनी तो 6 हजार रुपए देंगे वृद्धा पेंशनमानापाथी हिमालय के निचले इलाके में दिखा लापता नेपाली विमान, मुस्टांग में क्रैश होने की आशंका, सवार थे 22 लोगसुप्रिया सुले पर विवादित टिप्पणी के बाद बीजेपी नेता चंद्रकांत पाटील ने मांगी माफीअरविंद केजरीवाल ने कहा- हरियाणा में लाखों बच्चों का भविष्य अंधकार में, हमें मौका मिला तो बच्चे बनेंगे डॉक्टर-इंजीनियरउज्जैन की गली-गली में घूमे हैं राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, शादी के कपड़े भी यहीं सिलाए, जानिए बार-बार क्यों आते थे यहांअमरनाथ यात्रा से पहले आतंकी साजिश नाकाम, ड्रोन को गिराया, स्टिकी बम बरामद
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.