रेल में ढाई किलो की जगह यात्रियों को मिलेगी 450 ग्राम की कम्बल

बदलाव: कुछ ट्रेनों में अच्छी गुणवत्ता के हल्के कम्बल देने शुरू

By: Ramesh Bissa

Published: 01 Jul 2019, 11:46 AM IST

रमेश बिस्सा

बीकानेर. ट्रेन के एसी कोच में सफर करने वाले यात्रियों को अब भारी भरकम कम्बल नहीं ओढऩे पड़ेंगे। यात्रियों की सहुलियत के लिए रेलवे कम्बलों का वजन कम करने जा रहा है। अब तक रेल यात्रियों को ढाई किलो वजन की के कम्बल मिलते थे। नई व्यवस्था में एसी कोच में सफर करने वाले यात्रियों को अच्छी क्वालिटी की पतली कम्बल मुहैया कराई जाएगी।

 

इस कम्बल का वजन भी महज साढ़े चार सौ ग्राम ही होगा और गर्म भी रहेगी। उत्तर पश्चिमी रेलवे के बीकानेर मंडल मंे नई कम्बलें आ चुकी है। पहले चरण में एसी फस्र्ट व सैकंड क्लास कोच में यात्रियों को यह कम्बल दिए जा रहे हैं। जल्द ही दूसरे चरण में एसी थर्ड कोच में भी यह कम्बल उपलब्ध कराए जाएंगे।

 

इन ट्रेनों में है व्यवस्था

बीकानेर मंडल की लगभग सभी ट्रेनों में कम्बल बदल जाएंगे। फिलहाल बीकानेर से चलने वाली ट्रेनों में शुरू की गई है। आने वाले दिनों मंे श्रीगंगानगर से चलने वाली ट्रेनों के एसी कोच में भी नई कम्बलें यात्रियों को दी जाएगी। वर्तमान में बीकानेर से दिल्ली, दादर, बांद्रा, कोलकाता एक्सप्रेस, सम्पर्क क्रांति, लीलण, बीकानेर-पुरी सहित कई ट्रेेनों के एसी कोच में लीलन (बेडरोड, कम्बल आदि) दिए जाते हैं।

 

रेलवे की लॉन्ड्री

बीकानेर रेलवे स्टेशन परिसर में ही रेलवे की मैकेनाइज्ड लॉन्ड्री है, जहां पर रोजाना कम्बलों, चद्दरों आदि की धुलाई अत्याधुनिक मशीनों से होती है। यह काम रेलवे की यांत्रिकी शाखा की देखरेख में होता है। हलांकि धुलाई का काम ठेके पर है, लेकिन लॉन्ड्री का नियंत्रण यांत्रिकी विभाग के पास है। प्रत्येक ट्रेन में रोजाना करीब १५०० बोडरोल लगते हैं। एक एसी कोच में ५१ कम्बल की आवश्यकता होती है।

 

कई बार होती है शिकायतें

ट्रेन के वातानुकूलित कोच में सफर करने वाले यात्री कई बार कम्बलों को लेकर शिकायत भी करते है। यह रेलवे बोर्ड तक भी पहुंचती है। इसको देखते हुए बोर्ड अब जल्द ही सभी ट्रेनों के एसी कोच में बदलाव करेगा। महानगरों के लिए चलने वाली ट्रेनों में कंबल के स्थान पर दोहर उपलब्ध करवाई जाएगी। यह एक तरह का मखमली कपड़ा होता है। इस में दोहरी परत होती है, यह आम कंबल की तुलना में काफी हल्की होती है।

 

किया जा रहा बदलाव

फस्र्ट व सैकंड एसी कोच में नए कम्बल दिए जा रहे हैं। यह बेहतर क्वालिटी ओर कम वजन के है। इससे यात्रियों को किसी तरह की शिकायत नहीं रहेगी। साथ ही सुविधाजनक रहेंगे। जल्द ही नए कम्बल थर्ड एसी कोच में भी दिए जाएंगे।
जितेन्द्र मीणा, वरिष्ठ वाणिज्य मंडल प्रबंधक, बीकानेर

Ramesh Bissa Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned