स्कूल की दीवार ढही, बड़ा हादसा टला

स्कूल की दीवार ढही, बड़ा हादसा टला

Atul Acharya | Publish: Aug, 08 2019 10:54:13 AM (IST) Bikaner, Bikaner, Rajasthan, India

wall collapsed- जर्जर भवन में पढऩे की मजबूरी: दफ्तरी चौक में दो पारियों में चलते हैं दो स्कूल

बीकानेर. उस्ताबारी रोड पर स्थित राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय दफ्तरी चौक की दीवार मंगलवार रात को भरभरा कर गिर गई। गनीमत रही कि कोई हताहत नहीं हुआ। बुधवार सुबह जब प्रथम पारी में लगने वाले स्कूल के लिए विद्यार्थी व स्टाफ पहुंचे तो देखा कि बाहरी दीवार गिरी हुई थी। इसके समीप से ही स्कूल में प्रवेश करने का रास्ता है। स्कूल के मुख्यद्वार के ऊपर की पट्टियां जर्जर होने के कारण उसे तो स्थायी रूप से पहले ही बंद कर रखा है। एेसे में वैकल्पिक रास्ते से ही बच्चे प्रवेश करते हैं, इसकी समीप ही दीवार ढह गई।

 

इस भवन के अन्य कमरे व दीवारें भी जर्जर है। एेसे में हर समय हादसे की आशंका बनी रहती है। इसमें सुबह के समय राजकीय दफ्तरी चौक स्कूल और दोपहर की पारी में राजकीय बालिका तेलीवाड़ा स्कूल संचालित होती है। दीवार गिरने के बाद दोनों पारियों के स्कूल प्राचार्यों ने इस मामले से मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी को अवगत कराया है। दीवार का मलबा बुधवार दोपहर तक यथावत पड़ा था, तो अंदर स्कूल भी संचालित हुए।

 

न्यायालय में है मामला
भवन जर्जर होने के कारण बारिश के मौसम में समस्या हो रही है। कमरों की छत्तों से भी प्लास्टर उखड़ रहा है। जानकारी के अनुसार किराए का भवन होने के कारण इसमें लंबे समय से मरम्मत नहंीं हुई। मामला न्यायालय में होने के कारण इसकी मरम्मत का कार्य नहीं हो पा रहा है। स्कूल भवन के मालिक नवरतन सिंघवी ने बताया कि भवन जर्जर है, इसको खाली करने के लिए पूर्व में कई बार शिक्षा विभाग को लिख चुका हूं, साथ ही मामला न्यायालय में भी चल रहा है।

 

निदेशक ने दिए थे निर्देश
बारिश के मौसम को देखते हुए शिक्षा निदेशक ने पिछले दिनों इस तरह के जर्जर भवन में बच्चों को नहीं बिठाने के दिशा-निर्देश जारी किए थे लेकिन दूसरा स्थान उपलब्ध नहीं होन के कारण शहरी क्षेत्र में कई स्कूल इस तरह के भवनों मंे संचालित हो रहे हैं।

 

नहीं बैठाएं
संस्था प्रधान एेसे भवनों में बच्चों को नहीं बिठाएं। जो जर्जर हो चुके हैं, इसके पूर्व में दिशा-निर्देश दे रखे हैं। जिस स्कूल की दीवार गिरी है, उस भवन से स्कूल शिफ्ट करने के लिए संस्था प्रधान एक प्रस्ताव तैयार कर कार्यालय सौंपे, उसे मुख्यालय को भेजे देंगे। उसके बाद आगे की प्रक्रिया शुरू हो सकेगी।
देवी सहाय सैनी, मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी, बीकानेर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned