उमस के साथ तपन बढ़ा रही बैचेनी

उमस के साथ तपन बढ़ा रही बैचेनी

By: Atul Acharya

Published: 03 Jul 2021, 05:45 PM IST

बीकानेर. आषाढ़ चल रहा है लेकिन क्षेत्र में अभी तक मानसून नहीं पहुंचा है। हवा के अनुकूल नहीं होने के कारण यह स्थिति बनी हुई है। अमूमन बीकाणा में जून माह के अंत या जुलाई के पहले दो-तीन दिन में मानसून की पहली वर्षा हो जाती है। इस बार एेसा नहीं हो पाया है। हवा के विपरीत होने के चलते तेज तपन बराबर बनी हुई है वहीं सुबह-सुबह उमस का भी प्रभाव रहता है। सुबह नौ बजे बाद से धूप में तेजी आने लगती है। यह माध्यान्ह तक पूरे रंग में आ जाती है। राहगीर बचाव के लिए सिर पर कपड़ा या टोपी लगाकर कर रहे हैं। वहीं सड़कों पर किनारे छोटे-मोटा व्यवसाय करने वाले छाता या कनात की छांव में दिन निकालते हैं। पिछले चार दिन से तापमान ४२ से ४४ डिग्री के बीच चल रहा था। शुक्रवार को भी ४० डिग्री तो न्यूनतम २९ डिग्री से ऊपर रहा। जबकि तीन दिन पूर्व न्यूनतम ३२.३ डिग्री रहा था। निचले स्तर पर पारा बढऩे से रात को भी बैचेनी बनी हुई है। पंखे तो गर्म हवा दे रहे हैं वहीं कूलर भी चिपचिपाहट बढ़ा रहे हैं। इनका कोई असर नहीं हो रहा है। जबकि पिछले माह के अंत में एक बारिश होने से एक बार वातावरण में ठंडक घुल गई थी।

सात दिन में पारे की स्थिति
तिथि अधिकतम न्यूनतम

२६जून ४०.८ २९.६
२७जून ३९.८ २५.०

२८जून ४२.५ २९.८
२९जून ४४.४ ३०.८

३०जून ४३.१ ३२.३
१जुलाई ४२.३ २९.२

२जुलाई ४०.८ २९.५

Atul Acharya Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned