: विधायक सिद्धि कुमारी ने उठाई मांग, लिखा सीएम को पत्र

: विधायक सिद्धि कुमारी ने उठाई मांग, लिखा सीएम को पत्र

dinesh swami | Publish: Sep, 06 2018 11:24:56 AM (IST) Bikaner, Rajasthan, India

बीकानेर. बीकानेर पूर्व विधानसभा क्षेत्र की विधायक सिद्धि कुमारी ने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को पत्र लिख कर बीकानेर तकनीकी विश्वविद्यालय का नाम श्रीकरणी तकनीकी विश्वविद्यालय रखने की मांग की है। उन्होंने पत्र में बताया कि बीकानेर के देशनोक में करणीमाता विशाल मंदिर है। जो क्षेत्र की जन आस्था का केंद्र है।


बीकानेर. बीकानेर पूर्व विधानसभा क्षेत्र की विधायक सिद्धि कुमारी ने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को पत्र लिख कर बीकानेर तकनीकी विश्वविद्यालय का नाम श्रीकरणी तकनीकी विश्वविद्यालय रखने की मांग की है। उन्होंने पत्र में बताया कि बीकानेर के देशनोक में करणीमाता विशाल मंदिर है। जो क्षेत्र की जन आस्था का केंद्र है।

एेसे में इस विवि का नाम देशनोक करणीमाता के नाम के आधार पर रखा जाए। उन्होंने यह भी उल्लेख किया कि जब से बीटीयू के कुलपति ने विवि के लोगो में में देशनोक करणीमाता का चित्र व स्थान अंकित किया है। तब से ही यहां के लोग बीटीयू का नाम श्रीकरणी तकनीकी विश्वविद्यालय करने की मांग कर रहे है।

 

संघटक कॉलेज के लिए जनप्रतिनिधियों से मिले
बीकानेर. अभियांत्रिकी महाविद्यालय को बीकानेर तकनीकी विश्वविद्यालय का संघटक महाविद्यालय बनाने की मांग को लेकर महाविद्यालय के व्याख्याताओं का प्रतिनिधिमण्डल ने बुधवार को सर्किट हाउस में राजस्थान बीज आयोग के अध्यक्ष शंभूसिंह खेतासर से मिला। साथ ही ज्ञापन भी सौंपा। प्रतिनिधिमण्डल ने बताया कि तकनीकी शिक्षामंत्री किरण माहेश्वरी की विधानसभा में घोषणा के बावजूद ईसीबी को संघटक कॉलेज नहीं बनाया गया। इसके बाद व्याख्याता यूआईटी चेयरमैन महावीर रांका व भाजपा शहर अध्यक्ष सत्यप्रकाश आचार्य से मिले। इसके बाद जनप्रतिनिधियों ने इस संबंध में उनसे चर्चा करने तथा अपनी ओर से यथा संभव सहयोग देने का आश्वासन दिया।

 

राजस्थानी को प्रदेश की दूसरी भाषा का प्रस्ताव हो पारित
बीकानेर. राजस्थानी युवा लेखक संघ के प्रदेशाध्यक्ष एवं राजस्थानी मान्यता आन्दोलन के प्रवर्तक कमल रंगा ने मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे के बीकानेर आगमन पर अनुरोध है कि कम से कम 12 करोड़ लोगों की जन-भावना का आदर करते हुए एवं भाजपा के 2013 के घोषणापत्र के बिन्दु संख्या 46 के संदर्भ में राजस्थानी को प्रदेश की दूसरी राजभाषा बनाने का प्रस्ताव इस चालू विधानसभा-सत्र में पारित करवावें।

 

 

फार्मासिस्टों का आंदोलन जारी
बीकानेर. राजस्थान फार्मासिस्ट हितकारी संघ के बैनर तले चल रहे आंदोलन के पांचवें दिन बुधवार को आमरण अनशन शुरू किया। संघ के पदाधिकारियों ने विभिन्न मांगों को लेकर एडीएम सिटी को ज्ञापन दिया। पांचवें दिन दीपक कुमार छंगाणी ने आमरण अनशन पर बैठे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned