चक्का जाम: संभाग की साढ़े चार हजार निजी बसें आज नहीं चलेंगी

bikaner news - Chakka Jam: Four and a half thousand private buses of the division will not run today

By: Jaibhagwan Upadhyay

Published: 22 Jul 2021, 07:40 PM IST

सुबह सात से शाम सात बजे तक संचालन बंद रहेगा
बीकानेर.
संभाग की साढ़े चार हजार निजी बसें गुरुवार को सुबह सात से शाम सात बजे तक बंद रहेगी। निजी बस ऑपरेटरों ने किराया बढ़ोतरी, कोरोनाकाल के दौरान बसों की टैक्स माफी सहित विभिन्न मुद्दों को लेकर 22 जुलाई को प्रदेश स्तरीय चक्का जाम हड़ताल रखने का निर्णय लिया था। राजस्थान बस एसोसिएशन के तत्वावधान में प्रस्तावित इस हड़ताल के चलते बीकानेर, श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़ तथा चूरू की करीब साढ़े चार हजार बसों का संचालन नहीं होगा।

करीब 12 घंटे बसों के बंद रहने से करोड़ों रुपए का कारोबार प्रभावित होने के साथ-साथ निजी बसों की सवारियों को भी परेशानी का सामना करना पड़ेगा। बीकानेर बस यूनियन के संभाग अध्यक्ष हिम्मत सिंह राठौड़ एवं जिलाध्यक्ष समुन्द्र सिंह राठौड़ ने बताया कि बसों का किराया १९१४ में निर्धारित किया गया था। इसके बाद राज्य सरकार ने निजी बसों का किराया तक निर्धारित नहीं किया। जबकि डीजल की कीमतों में हर साल बढ़ोतरी हुई है। उन्होंने बताया कि कोरोना महामारी के चलते पूरे देश में लॉकडाउन रहा। बसों का संचालन भी नहीं हुआ, इसके बावजूद राज्य सरकार ने टैक्स माफी की घोषणा नहीं की है। कोरोना महामारी के बीच प्रभावी लॉकडाउन अवधि में भी बस ऑपरेटरों को अपने कार्मिकों को तनख्वाह देनी पड़ी और बैंकों की किश्तें चुकानी पड़ी।


बस ऑपरेटरों से जनसंपर्क
निजी बस ऑपरेटरों की बस हड़ताल को सफल बनाने के लिए मंगलवार और बुधवार दो दिन बस ऑपरेटरों ने जनसंपर्क किया। इससे पूर्व इस संबंध में हुई बैठक में भाग सिंह शेखावत, गौरव सिंह राठौड़, हिम्मत सिंह शेखावत, चांद सिंह राजवी, श्रवण सिंह पंवार, मनोज, कैलाश आदि उपस्थित थे। पदाधिकारियों ने बताया कि राज्य सरकार ने इस संबंध में जल्द ही निर्णय नहीं लिया तो आगामी दिनों में अनिश्चितकालीन हड़ताल की घोषणा निजी ऑपरेटरों को मजबूरन करनी पड़ेगी।

रात को स्लीपर बसें चलेंगी
संभाग अध्यक्ष हिम्मत सिंह राठौड़ ने बताया कि हड़ताल के बावजूद गुरुवार रात को स्लीपर बसों का संचालन होगा। उन्होंने बताया कि यात्रियों को परेशानी ना हो इस बात को ध्यान में रखते हुए निजी बस ऑपरेटरों ने अपनी हड़ताल को सुबह सात से शाम सात बजे तक ही रखने का फैसला लिया है। उन्होंने बताया कि पूर्व में ऑनलाइन टिकटों की बुकिंग होने के कारण स्लीपर बसों को चलाया जाएगा।

Jaibhagwan Upadhyay Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned