जनता की परवाह नहीं, मुख्य सचिव का तो लिहाज करो

पत्रिका न्यूज पंच--- शहर की गलियां सडक़ें कीचड़ से सरोबार

By: Vimal

Published: 15 Sep 2021, 05:14 PM IST

बीकानेर. शहर की गलियां। सडक़ें कीचड़ से सरोबार है। महज आधा इंच बारिश ने बीकानेर की गलियों और सडक़ों को उधेड़ कर रख दिया। आवारा जानवरों और अतिक्रमण ने पहले ही बीकानेर को बर्बाद किया हुआ है। जनता इतनी अजिज आ चुकी है कि अब फरियाद भी नहीं करती। दो दिन बाद 17 सितम्बर को मुख्य सचिव निरंजन आर्य शहर में होंगे। कभी बीकानेर कलक्टर रहे आइएएस आर्य, शहर के हालात देखकर क्या कहेंगे? निगम और जिला प्रशासन भले जनता की परवाह नहीं करें लेकिन, राज्य की ब्यूरोक्रेसी के मुखिया का तो लिहजा कर, शहर की हालत सुधारने के प्रयास करने चाहिए।

 

 

शहर की जिम्मेदारी निगम की, यहां भी पानी जमा

शहर को साफ सुथरा बनाने की जिम्मेदारी नगर निगम की है। शहर में हुई बारिश का पानी निगम कार्यालय के अंदर और बाहर चौबीस घंटे बाद भी एकत्र रहा। दिन में यहां निगम आयुक्त, उपायुक्त और स्वास्थ्य अधिकारी आए, लेकिन इस एकत्र पानी की निकासी की कोई व्यवस्था नहीं की गई। अधिकारियों की गाडि़यां इस पानी से होकर ही निकली।

 

 

राष्ट्रीय राजमार्ग पर पानी भरा

चौधरी भीमसेन सर्किल शहर के व्यस्तम स्थानों में से एक है। यहां बीकानेर से जयपुर, श्रीगंगानगर और जैसलमेर को जाने वाली बसें गुजरती है। केन्द्रीय बस स्टैण्ड भी इसी मार्ग से होकर जाना पड़ता है। बारिश का पानी यहां २४ घंटे बाद भी भरा रहा। दिनभर वाहन इसी पानी से होकर निकलने को मजबूर रहे।

 

सडक़ पर कीचड़-कीचड़

पुरानी गिन्नाणी क्षेत्र स्थित केशरिया हनुमान मंदिर रोड पर कीचड़ से आमजन परेशान रहे। बारिश के बाद से नालों की गदंगी और कीचड़ सडक़ पर फैल गया। क्षेत्रवासियों का अपने घरों से बाहर निकलना व प्रवेश करना दूभर हो गया। आमजन व पार्षद ने आयुक्त से गुहार भी लगाई, लेकिन मंगलवार शाम तक इस कीचड़ से निजात नहीं मिली।

 

कचरे से अटा नाला, धसी सडक़

नगर निगम से महज सौ मीटर की दूरी पर स्थित नाला ही कचरे और गंदगी से अटा पड़ा है। लम्बे समय से इस नाले की दीवार टूटी हुई है। नाले के पानी के कारण पास स्थित सडक़ भी धस रही है। करीब पन्द्रह फुट तक की सडक़ क्षतिग्रस्त हो चुकी है।

 

टूटी सडक़, पानी और कीचड़

पुरानी गजनेर रोड चौंखूटी पुलिया के पास टूटी सडक़ से आमजन परेशान है। बारिश से इस सडक़ पर बने गड्ढों में पानी भर गया। बारिश के चौबीस घंटे बाद भी निगम ने इस मार्ग की सुध नहीं ली। जबकि इस सडक़ के पास ही निगम का भण्डार है। पानी और कीचड़ से दिनभर लोग निकलते रहे।

 

सिस्टम फेल, अधिकारियों का निरीक्षण

निगम रोड पेट्रोल पम्प के पास स्थित नाला कचरे और गंदगी से अटा रहा। बारिश के दौरान पानी की मात्रा बढऩे से सडक़ पर कीचड़ और कचरा फैल गया। टूटी दीवार के कारण पास की सडक़ धस रही है, जो कभी हादसे का कारण बन सकती है। पार्षद की सूचना पर निगम आयुक्त पंकज शर्मा मौके पर पहुंचे व निरीक्षण किया।

 

सडक़ कम, गड्ढे अधिक

राणीसर बास क्षेत्र के लोग टूटी सडक़ व पानी की उचित निकासी की व्यवस्था नहीं होने से परेशान है। बारिश के कारण यहां सडक़ पर पानी एकत्र हो गया। कचरा, कीचड़ और पानी से दिनभर लोग परेशान होते रहे। पैदल व दुपहिया वाहन चालकों को भी इस मार्ग पर संभलकर चलना पड़ा।

 

अमरसिंहपुरा क्षेत्र में वैष्णो देवी माता मंदिर के पास बारिश के पानी और कीचड़ से लोग परेशान होते रहे। सडक़ से उखड़े डामर के कारण पड़े गड्ढ़ो में बारिश का पानी एकत्र रहा। मंदिर आने-जाने वाले श्रद्धालु भी परेशान होते रहे। कीचड़ की फिसलन के कारण लोग इस मार्ग से बचकर निकलते रहे।

 

 

यह है व्यस्तम फड़बाजार
फड़बाजार शहर का सबसे व्यस्तम बाजार है। प्रतिदिन यहां हजारों लोग खरीदारी के पहुंचते है। बारिश से इस बाजार के मुख्य मार्ग पर गंदा पानी एकत्र हो गया। मंगलवार को भी इस पानी की निकासी नहीं हो पाई। यहां खरीदारी करने पहुंचे लोग दिनभर पानी के अंदर से होकर निकलने को मजबूर रहे। निगम की ओर पानी निकासी की व्यवस्था नजर नहीं आई।

Show More
Vimal Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned