स्वच्छ बीकाणा प्रतियोगिता : साफ-सुथरे वार्ड को मिलेंगे इतने लाख रुपए की सुन कर चौंक जाएंगे आप

स्वच्छ बीकाणा प्रतियोगिता : साफ-सुथरे वार्ड को मिलेंगे इतने लाख रुपए की सुन कर चौंक जाएंगे आप

Anushree Joshi | Publish: Dec, 08 2017 09:39:19 AM (IST) Bikaner, Rajasthan, India

प्रतियोगिता में समस्त 60 वार्ड भाग ले सकेंगे, पुरस्कार राशि से संबंधित वार्ड में विकास कार्य करवाए जाएंगे।

शहर को साफ-सुथरा व स्वच्छ बनाए रखने के उद्देश्य से नगर निगम की ओर से 'स्वच्छ बीकाणा' प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा। प्रतियोगिता में समस्त 60 वार्ड भाग ले सकेंगे। इसके तहत प्रथम स्थान प्राप्त करने पर 20 लाख रुपए, द्वितीय को 15 लाख व तृतीय को 10 लाख रुपए की पुरस्कार राशि दी जाएगी।

 

पुरस्कार राशि से संबंधित वार्ड में विकास कार्य करवाए जाएंगे। निगम आयुक्त निकया गोहाएन ने बताया कि समस्त वार्डों में किए गए स्वच्छता सम्बन्धी कार्यों का मूल्यांकन किया जाएगा। वार्ड के जनप्रतिनिधि, स्वयंसेवी संस्थाओं, निजी ट्रस्ट, सामाजिक संस्थाओं अथवा 10 या 10 से अधिक व्यक्ति समूहों द्वारा अपने-अपने वार्ड को साफ रखने के तहत की गई पहल व

 

स्वच्छता के लिए उठाए गए कदमों से सम्बन्धित, सफाई से पहले एवं बाद के फोटोग्राफ सहित रिपोर्ट 19 जनवरी 2018 तक निगम की स्वास्थ्य शाखा में प्रस्तुत की जा सकती है। निगम द्वारा स्वच्छता के मापदंडों के अनुरूप मूल्यांकन करते हुए स्वच्छता एवं सफाई में उत्कृष्ट तीन वार्डों को पुरस्कृत किया जाएगा।

 

पुरस्कार राशि से संंबंधित वार्ड पार्षदों की अनुशंसा पर वार्ड में विकास कार्य करवाए जाएंगे। पुरस्कार 26 जनवरी 2018 को नगर निगम द्वारा गणतन्त्र दिवस कार्यक्रम के अवसर पर प्रदान किए जाएंगे।

 

'रिकॉर्ड संधारण करने में बरतें पूरी गंभीरता'
राजस्व रिकॉर्ड का संधारण पूरी गंभीरता के साथ किया जाए। राजस्व प्रकरणों में साक्षी के आने पर उनके साक्ष्य लेना सुनिश्चित किया जाए तथा प्रकरणों में अनावश्यक तारीखें नहीं दी जाएं। यह बात गुरुवार को राजस्व मण्डल अध्यक्ष वी. श्रीनिवास ने राजस्व मण्डल अधिकारियों की बैठक में कही।

 

राजस्व मण्डल अध्यक्ष ने धारा 53 के बंटवारा प्रकरणों में तहसीलदारों को मौके पर जाकर बंटवारे की कार्रवाई सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि राजस्व न्यायालयों के सभी निर्णय ऑन लाइन कर दिए जाएंगे। उन्होंने जिले के तहसील मुख्यालयों पर बन रहे मॉर्डन रिकॉर्ड रूम की प्रगति की जानकारी ली तथा कहा कि इनका निर्माण अतिशीघ्र किया जाए।

 

पत्थरगढ़ी से संबंधित प्रकरणों का त्वरित निस्तारण किया जाए। राजस्व अधिकारी प्रति सप्ताह कम से कम तीन दिन न्यायालयों में बैठकर राजस्व प्रकरणों का निस्तारण करें। राजस्व अधिकारियों की बैठकों में उपनिवेशन के अधिकारियों से भी समन्वय रखा जाए।

 

अधिकारियों की ओर से राजस्व कार्यालयों का नियमित निरीक्षण सभी स्तरों पर किया जाए। जमाबंदी लेखन के दौरान आमजन के समक्ष जमाबंदी का पठन देने के बाद ही अंतिम रूप दिया जाए। उन्होंने पूगल एवं छत्तरगढ़ के तहसीलदारों को प्रत्येक चक का मौका निरीक्षण कर रिपोर्ट उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned