जंग में हर मोर्चे पर डटे पुलिस अधिकारी और जवान

कर्मवीर - इनके हौसलों का कोई सानी नहीं, एक ही सोच ना डरेंगे ना हटेंगे, कोराना को हाराएंगे

 

By: Atul Acharya

Updated: 18 Apr 2020, 08:58 PM IST

-जयप्रकाश गहलोत

बीकानेर. जिले की करीब साढ़े 23 लाख लोग लॉकडाउन कारण अपने घरों में ही है। ऐसे में चिकित्सक के अलावा पुलिस के जवान सोशल डिस्टेंसिंग की पालना कराने के लिए दीवार बन कर खड़े है। जिला प्रशासन के साथ मिलकर घरों में कैद लोगों को जरूरी सामान तक मुहैया कराने में पुलिस के जवान जुटे है । जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में पुलिस अधिकारी दिनभर चौकसी और रात को गश्त कर व्यवस्थाओं का जायजा ले रहे है।


इतने जवान है तैनात
बीकानेर शहर में 350 पुलिस जवान, 400 होमगार्ड, 13 सीआई, 40 एसआई, 150 एएसआई, 100 हैडकांस्टेबल एवं तीन आरएसी की टुकडिय़ां विभिन्न जगह पर तैनात हैं। इसके अलावा नोखा, लूणकरनसर, खाजूवाला, कोलायत एवं श्रीडूंगरगढ़ के एक-एक सीओ सहित ग्रामीण अंचल के 8 सीआई, नौ एसआई सहित 17 थानों का 765 जवान सुरक्षा मोर्चा संभाले हुए हैं।

पुलिस जवानों को अभिनंदन
कई जगहों पर पुलिस के इन कोरोना कर्मवीरों का स्वागत-सत्कार किया जा रहा है। हालात यह है कि सुरक्षा में तैनात कई जवान खाना-पीना उन क्षेत्रों में कर रहे हैं, जहां से कोरोना के मरीज मिले हैं। उनके इस हौसले को आमजन सलाम करने लगे हैं। श्रीडूंगरगढ़, सैरुणा, महाजन, गजनेर, देशनोक, नाल, नापासर, पांचू, जसरासर, छतरगढ़, पूगल बज्जू, दंतौर थानाधिकारी भी दिन-रात कानून व्यवस्था बनाने में जुटे हुए है।



आमजन की भलाई के लिए सख्ती
लॉकडाउन की पालना कराना और गांवों में नजर रखना चुनौती पूर्ण काम है। बाजार, मोहल्ले व राजमार्गों पर तैनात पुलिस के जवान निगरानी रख रहे हैं। पुलिस की सख्ती आमजन की भलाई के लिए हैं।
विक्रमसिंह चारण, एसएचओ नाल


पुलिस हर मदद को तैयार
लॉकडाउन ने निश्चित तौर पर आमजन के लिए परेशानियां खड़ी कर दी है। कुछे लोगों के कारण पुलिस को सख्ती करनी पड़ रही है। पुलिस हर संभव मदद को तैयार है। परिवार, समाज और देश की खातिर घर पर रहे, सुरक्षित रहे।
अरविंद सिंह शेखावत, एसएचओ नोखा


डरे नहीं, सहयोग करें
पुलिस का काम आम दिनों की अपेक्षा कई गुना बढ़ गया है। कोरोना की जंग में हम तभी जीत पाएंगे जब सब साथ मिलकर लडेंगे। कुछ दिनों की परेशानी झेलकर हमेशा के लिए सुखी हो जाएंगे। डरना नहीं है। पुलिस का हर मोर्च पर सहयोग करना है। आमजन को पुलिस के सच्चे साथी बनकर इस विपदा से निबटना है।
विकास बिश्नोई, एसएचओ कोलायत

सबका सहयोग जरूरी
पुलिस लॉकडाउन की पालना कराने के साथ-साथ आमजन की हर संभव मदद कर रही है। आमजन को पुलिस विरोध की जगह सहयोग करना चाहिए। सबके सहयोग से इस जानलेवा वायरस से जंग जीतनी है।
ईश्वरप्रसाद जांगिड, सीआइ लूणकरणसर थाना

जनता साथ है तो नहीं टूटेगी हिम्मत
आम जनता पुलिस की हिम्मत है, इसे किसी परिस्थितियों में टूटने नहीं देना है। कोरोना से लडऩे के लिए हम पूरी तरह से तैयार है। विपदा की घड़ी भी टल जाएगी। प्यार और अपनेपन में खटास नहीं होने देना है।
गौरव खिडिय़ा, एसएचओ जामसर


आपदा की घडी में निभा रहे अपना फर्ज
कानून व्यवस्था बनाने के साथ-साथ आपदा की घड़ी में पुलिस मानवीय दृष्टिकोण अपनाकर अपना फर्ज निभा रही हैं। जवान अपनी जान की परवाह न करते हुए दिनरात डटे हुए हैं। पुलिस समझाइश और एलाउंसमेट कर लोगों को घरों में रहने की अपील कर रही है।
सुनील कुमार, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण

Award for Real Heroes
Show More
Atul Acharya Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned