मास्क के लिए कोई उपलब्ध करवा रहा कपड़ा तो कोई बना रहे निशुल्क

coronavirus - कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए आगे आए सेवाभावी लोग,
मास्क का सार्वजनिक स्थानों पर कर रहे वितरण

बीकानेर. कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए हर जगह मास्क की मांग बनी हुई है। बड़ी संख्या में मास्क की बढ़ी मांग के चलते अब मुश्किल से ये उपलब्ध हो पा रहे है। शहर में अब स्थानीय स्तर पर ही तैयार हो रहे कपड़े के मास्क से लोगों को थोड़ी राहत मिल रही है। इसके लिए जनप्रतिनिधियों के साथ-साथ सेवाभावी लोग और महिला स्वयं सहायता समूह जुटे हुए है। दर्जियों की बड़ी गुवाड़ में सिलाई के पारम्परिक व्यवसाय से जुड़े लोग रोज सैकड़ो की संख्या में कपड़े के मास्क बना रहे है। इन मास्क का वितरण सार्वजनिक स्थानों पर निशुल्क किया जा रहा है।

 

वार्ड पार्षद किशोर आचार्य के अनुसार सेवाभावी बरकत छींपा और अशोक भईया मास्क के लिए निशुल्क कपड़ा उपलब्ध करवा रहे है, वहीं महेन्द्र सोलंकी, रतन सोलंकी, सुनील चौहान, ओम प्रकाश, लालचंद पंवार, घनश्याम कच्छावा मास्क को निशुल्क तैयार कर रहे है। इन युवाओं की ओर से अब तक करीब तीन हजार मास्क बनाए जा चुके है, जिनका निशुल्क वितरण किया जा चुका है। पार्षद आचार्य की पहल पर निशुल्क कपड़ा उपलब्ध करवाने और निशुल्क बनाने और निशुल्क ही वितरण कार्य की लोग सराहना भी कर रहे है।

 

 

महिलाएं घर-घर बना रही मास्क
डे एनयूएलएम योजना से जुड़ी महिला स्वयं सहायता समूह की महिलाएं भी घर-घर कपड़े के मास्क बनाने में जुटी है। मास्क बनाने से इन महिलाओं को घर बैठे रोजगार भी उपलब्ध हो रहा है। योजना की जिला प्रबंधक नीलू भाटी ने बताया कि इन महिलाओं की ओर से तैयार करीब २२०० मास्क नगर निगम खरीद चुका है। वहीं नगर विकास न्यास ने भी मास्क खरीदे है। करीब तीस महिलाएं इस कार्य में जुटी हुई है।

Vimal Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned