निगम अपने स्वामित्व की दुकानों का करेगा सर्वे, वर्तमान दर से किराया तय कर करेगा ई आवंटन

राजस्व बढ़ोतरी का प्रयास, निगम स्वामित्व की दुकानें होंगी चिह्नित

By: Vimal

Published: 17 Feb 2021, 05:39 PM IST

बीकानेर. शहर के विभिन्न क्षेत्रों में नगर निगम की व्यावसायिक दुकानें है, जो वर्षो से किराए पर संचालित हो रही है। निगम अब इन अपने स्वामित्व वाली सभी व्यावसायिक दुकानों का सर्वे कर सूचीबद्ध करेगा। साथ ही वर्तमान परिप्रेक्ष्य में इन दुकानों का किराया निर्धारित कर ई -रेंटल पोर्टल बनाकर ऑनलाइन आवंटन करेगा और किराया वसूली करेगा।

निगम महापौर सुशीला कंवर ने निगम की बजट बैठक के दौरान इस संबंध में प्रस्ताव रखा। उन्होंने बताया कि दुकानों का वर्तमान परिप्रेक्ष्य में किराया निर्धारित होने से निगम के राजस्व में बढ़ोतरी होगी। किन दुकानों का किराया निगम को प्राप्त हो रहा है और किन दुकानों का नहीं इसे भी चिह्नित किया जाएगा। महापौर के अनुसार निगम की अपने स्वामित्व की व्यावसायिक दुकानें कोटगेट, बड़ा बाजार, करमीसर, मीट मार्केट आदि क्षेत्र में है।

कारकस प्लांट होगा स्थापित
मृत पशुओं के खुले में विच्छेदन पर रोक लगाने के लिए निगम ने कारकस प्लांट स्थापित करने की कवायद शुरू की है। महापौर के अनुसार इस प्लांट के स्थापित होने से मृत पशुओं के खुले में विच्छेदन पर रोक लग जाएगी। पशुओं का विच्छेदन इसी प्लांट में होगा। इससे प्रदूषण से मुक्ति मिलेगी एवं प्लांट संचालन से निगम को राजस्व प्राप्ति भी होगी। वर्तमान में खुले में मैन्युअली तरीके से पशुओं का विच्छेदन होता है।

सामुदायिक भवनों से राजस्व प्राप्ति के प्रयास
निगम की ओर से निर्मित करवाए गए सामुदायिक भवनों को विभिन्न आयोजनों के लिए किराए पर दिए जाने और राजस्व प्राप्ति की कवायद भी निगम ने शुरू की है। महापौर के अनुसार बजट बैठक में रखे गए प्रस्ताव में सामुदायिक भवनों को वर्तमान परिप्रेक्ष्य में दर का निर्धारण करते हुए आय अर्जित करने का प्रयास किया जाएगा। इन भवनों की उचित देखभाल, बेहतर प्रबंधन की ओर विशेष प्रयास किए जाएंगे।

Vimal Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned