लॉक डाउन में मिली मदद, अब कर्फ्यू में बेडिय़ां

coronavirus- शहर के परकोटा क्षेत्र में एक सप्ताह से कर्फ्यू

गरीब और मजदूरों की दैनिक मजदूरी बंद, राशन का संकट गहराया

 

By: Vimal

Published: 20 Jul 2020, 12:14 AM IST

बीकानेर.

पुराने शहर के परकोटा क्षेत्र में कोरोना के कारण एक सप्ताह से कर्फ्यू है। कोई काम काज तक के लिए आ जा नहीं सकता है। ऐसे में लॉक डाउन में मदद करने वाले भामाशाह अब कर्फ्यू के चलते नजर नहीं आ रहे है। अब ऐसे हालातों में दैनिक मजदूरी कर भरण पोषण करने वाले परिवारों के समक्ष राशन पानी का संकट होने लगा है।

 

लॉकडाउन के दौरान सरकार, प्रशासन सहित स्वयं सेवी संस्थाओं की ओर से जरुरतमंद लोगों की हरसंभव मदद की जा रही थी, इस बार कर्फ्यू क्षेत्र के जरुरतमंद और गरीब, मजदूर लोगों की मदद के लिए वैसी स्थिति नजर नहीं आ रही है।

 


परकोटा क्षेत्र के लोग कर्फ्यू के कारण अपने घरों में कैद है। दुकानें, प्रतिष्ठान, बाजार, निर्माण कार्य आदि बंद होने से हजारों लोगों की दैनिक मजदूरी बंद हो गई है। है। सरकार और प्रशासन की ओर से जरुरतमंद लोगों की मदद नहीं होने से अब लोगों में गुस्सा भी नजर आने लगा है। दैनिक मजदूरी करने वाले लोग आजीविका चलाने के लिए मजदूरी के लिए छूट देने अथवा राशन-रोटी की व्यवस्था प्रशासन स्तर पर करने की बात कह रहे है।

 


न रोजगार ना मदद


निजी क्षेत्र में काम करने वाले लोग घरों से बाहर नहीं निकल पा रहे है।कर्फ्यू के कारण चाय, पान, नमकीन, मिठाई सहित सभी दुकानें बंद पड़ी है। शादी, विवाह, मांगलिक कार्य, मंदिर बंद होने से पंडिताई और कर्मकाण्ड से जुड़े लोगों की भी आय बंद पड़ी है। हेयर कटिंग व सेलून, सिलाई, लकड़ी, मेकेनिक,साइकिल पंचर, बिजली मिस्त्री,भवन निर्माण, पापड़, बड़ी व भुजिया बनाने सहित विभिन्न प्रकार के कार्य कर अपना परिवार चलाने वाले लोगों की परेशानियां बढऩे लगी है।

 

 

यह बोले जनता के नुमाइंदे

जरुरतमंदों की हो मदद
मेरे वार्ड में अधिकतर निवासी दैनिक दिहाड़ी, गरीब और मजदूर वर्ग से है। इनके घरों में बैठे रहने से इनके परिवारों का भरण पोषण दूभर हो गया है। प्रशासन की तरफ से इनको मदद की दरकार है।
प्रफुल्ल हटीला, पार्षद वार्ड 71

 


आजीविका के लिए मिले छूट
ठेला, गाडा, टैक्सी, मजदूरी कर अपने परिवार का संचालन करने वालों की आजीविका का साधन बंद हो गया है। प्रशासन जरुरतमंद ऐसे परिवारों को आजीविका के लिए छूट दे ताकि इनके समक्ष आर्थिक संकट न हो।
दुलीचंद सेवग, पार्षद वार्ड संख्या 74

 


राशन-भोजन की हो व्यवस्था
परकोटा क्षेत्र में कफर््यू लगा होने से लोगों के समक्ष भूखे रहने की नौबत आ रही है। प्रशासन स्वयंसेवी संस्थाओं को तैयार करे। जरुरतमंद लोगों के लिए भोजन-राशन की व्यवस्था हो।
अरविन्द किशोर आचार्य, पार्षद वार्ड संख्या 60

 


लोग कोरोना से जूझ रहे, विधायक सरकार बचाने में लगे हुए
पश्चिम विधानसभा क्षेत्र से विधायक व मंत्री अपनी सरकार बचाने में जुटे हुए है। क्षेत्र के लोग कोरोना से जूझ रहे है। मंत्रीजी को इससे कोई सरोकार नहीं है। प्रशासन भी केवल आंकड़े अपडेट करने में जुटा है। लोगों की स्थिति दयनीय हो रही है।
प्रदीप उपाध्याय, वार्ड पार्षद 57

 


हर संभव हो मदद
परकोटा क्षेत्र में कर्फ्यू लगा होने से लोगों के समक्ष राशन, भोजन और आर्थिक संकट उत्पन्न हो गया है। प्रशासन जल्द जरुरतमंद लोगों की मदद के लिए कोई योजना बनाए और लोगों की मदद करे।
रमजान अली कच्छावा, पार्षद वार्ड संख्या

 



जरुरतमंदों को मिले राशन
परकोटा क्षेत्र में कर्फ्यू से दैनिक दिहाड़ी करने वाले परिवार अधिक प्रभावित हुए है। प्रशासन को चाहिए ऐसे परिवारों को चयनित कर राशन सामग्री के साथ दैनिक जरुरी सामान भी उपलब्ध करवाया जाए।
मेहनाज बानो, वार्ड पार्षद 73

Vimal Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned