scriptDiwali | दीपावली आज, घर-घर होगा लक्ष्मी पूजन | Patrika News

दीपावली आज, घर-घर होगा लक्ष्मी पूजन

दीपमाला और रंगीन रोशनियों से सजे घर-बाजार

बीकानेर

Published: November 04, 2021 09:42:35 am

बीकानेर. धन की देवी लक्ष्मी का पर्व दीपावली गुरुवार को धूमधाम से मनाया जाएगा। घर-घर और दुकानों -प्रतिष्ठानों में मां लक्ष्मी का पूजन कर आरती की जाएगी। घर-परिवार के सदस्य लक्ष्मी पूजन के श्रेष्ठ मुहूर्त में मां लक्ष्मी का पूजन कर लक्ष्मी की कृपा और सुख -समृद्धि की कामना करेंगे। इस दौरान महासरस्वती, महाकाली और कुबेर का भी पूजन किया जाएगा। लक्ष्मी पूजन के लिए बुधवार को घरों में तैयारियां चलती रही। वहीं बाजारों में खरीदारी का दौर चलता रहा। घरों में लक्ष्मी पूजन स्थलों को रंग -बिरंगी रोशनियों और सजावटी सामना से सजाया गया है। शहर के बाजारों में लक्ष्मी पूजन के लिए चना, बीज, मक्खनदाना, महल -माळिया, लक्ष्मीजी का पाना, मिट्टी से बनी हटड़ी, कुलड़, दीपक सहित विभिन्न पूजन सामग्री खरीदने का दौर चलता रहा।

दीपावली आज, घर-घर होगा लक्ष्मी पूजन
दीपावली आज, घर-घर होगा लक्ष्मी पूजन

दीपमाला और रंगीन रोशनियों से सजे घर-बाजार

दीपावली को लेकर घर-घर और दुकानें -प्रतिष्ठान दीपमाला और रंगीन रोशनियों से सज गए है। घरों, बाजारों, मोहल्लों और हैरिटेज इमारतों को दूधिया प्रकाश से रोशन किए गए है। मंदिरों को भी रंगीन रोशनियों से सजाया गया है। दीपोत्सव के दौरान धनतेरस से प्रतिदिन शाम के समय घरों, दुकानों, प्रतिष्ठानों और मंदिरों में दीपदान का क्रम चल रहा है। शहर के कई बाजारों में की गई भव्य सजावट और आकर्षक रोशनी की गई है।

घर -घर में बने पकवान
मां लक्ष्मी के पूजन और स्वागत में घर-घर में विविध पकवान तैयार किए जा रहे है। बुधवार को घर-परिवार की महिलाएं मावा, मैदा, बेसन, काजू, किसमिस, बादाम, केसर, चीनी, अजवायन, छैना आदि से पकवान और मिठाईयां बनाने में व्यस्त रही। गुरुवार को लक्ष्मी पूजन के दौरान इन पकवानों और मिठाइयों का भोग लक्ष्मीजी के अर्पित किया जाएगा। वहीं लक्ष्मी पूजन के दौरान दूध, केशर, चीनी, पंचमेवा से बनी खीर तथा मैदा से बने खाजा का विशेष भोग अर्पित किया जाएगा।

बाजारों में भीड़, खरीदारी परवान पर

दीपावली को लेकर बुधवार को शहर के विभिन्न बाजारों में शहरवासियों की भीड़ रही। पुराना शहर स्थित भुजिया बाजार, बड़ा बाजार, घूमचक्कर, सब्जीबाजार, मोहता चौक, तेलीवाड़ा, दाऊजी मंदिर रोड, जोशीवाड़ा, कोटगेट, केईएम रोड, सार्दुल सर्कल, फड़ बाजार, सट्टा बाजार, स्टेशन रोड, पुरानी जेल रोड, ठंठेरा बाजार, जस्सूसर गेट, नत्थूसर बास, रामपुरा, लालगढ़, गंगाशहर, भीनासर सहित कॉलोनी क्षेत्रों में स्थित विभिन्न बाजारों में दीपावली की खरीदारी परवान पर रही। लोगों ने लक्ष्मी पूजन सामग्री सहित मिठाईयां, नमकीन, घरेलू उपयोग सामान, सजावटी सामान, वस्त्र, जूते, चप्पल, सौन्दर्य प्रसाधान सामग्री, रंग बिरंगी लाइटें आदि खरीदारी चलती रही।

अन्नकूट व गोवर्धन पूजन कल
पांच दिवसीय दीपोत्सव में ५ नवंबर को अन्नकूट और गोवर्धन पूजन का आयोजन होगा। घरों के मुख्य द्वार के आगे राती मिट्टी व गोबर से गोवर्धन की अनुकृति चित्रित कर विविध पूजन सामग्री से पूजन कर घर-परिवार की सुख -समृद्धि की कामना की जाएगी। पंडित राजेन्द्र किराडू के अनुसार इस गोवर्धन पर्वत का भी पूजन करने का विधान है। इसे अन्नकूट उत्सव भी कहते है। दीपोत्सव के आखिरी दिन ६ नवंबर को यम द्वितीया अर्थात भाईदूज पर्व मनाया जाएगा। बहनें अपने भाईयों की दीर्घायु और खुशहाल जीवन की कामना को लेकर भाईयों के ललाट पर कुमकुम अक्षत तिलक कर मुंह मीठा करवाएगी।

रूप चतुर्दशी पर्व मनाया

दीपोत्सव के दूसरे दिन बुधवार को रूप चतुर्दशी पर्व मनाया गया। लोगों ने अपने रूप में निखार के लिए तेल उबटन किया। महिलाएं सजने -संवरने के लिए ब्यूटी पार्लर पहुंची। इसे छोटी दीपावली भी कहा जाता है। नरक चतुर्दशी के रूप में भी इस दिन की पहचान है। घर-घर में महिलाओं ने अपने रूप में निखार के लिए कई जतन किए और सज संवरकर तैयार हुई।

लक्ष्मी पूजन मुहूर्त
ज्योतिषाचार्य पंडित राजेन्द्र किराडू के अनुसार गुरुवार को दीपावली पर्व मनाया जाएगा। मां लक्ष्मी का पूजन कर आरती की जाएगी। पंडित किराडू के अनुसार दीपावली पर सुबह से मध्यरात्रि बाद तक श्रेष्ठ चौघडि़या व श्रेष्ठ लग्न में लोग मां लक्ष्मी का पूजन करेंगे। लक्ष्मी पूजन के लिए वृश्चिक लग्न सुबह 7.51 मिनट से 10.10 मिनट तक, धनु लग्न सुबह 10.10 मिनट से 12.10 मिनट तक का मुहूर्त श्रेष्ठ है। वहीं चंचल चौघडि़या सुबह 10.58 मिनट से 12.20 मिनट तक, लाभ चौघडि़या 12.20 मिनट से 1.42 मिनट तक अमृत चौघडि़या दोपहर 1.42 मिनट से 3.24 मिनट तक श्रेष्ठ मुहूर्त है। कुंभ लग्न दोपहर 1.56 मिनट से 3.24 मिनट तक, शुभ चौघडि़या शाम 4.27 मिनट से 5.50 मिनट तक और अमृत चौघडि़या शाम 5.50 मिनट से 7.27 मिनट तक है। मेष लग्न गोधूली शाम 4.51 मिनट से 6.28 मिनट, वृष लग्न 6.28 मिनट से 8.23 मिनट तक, मिथुन लग्न 8.23 मिनट से 10.38 मिनट तक, सिंह लग्न मध्यरात्रि बाद 12.57 मिनट से 3.13 मिनट तक श्रेष्ठ मुहूर्त है। लाभ चौघडि़या 12.21 मिनट से 1.58 मिनट तक श्रेष्ठ मुहूर्त है। पंडित किराडू के अनुसार गुरुवार को लक्ष्मी पूजन के लिए अभिजित मुहूर्त सुबह 11.58 मिनट से मध्याह्न 12.42 मिनट तक है।

कलम-दवात, गणेश और कुबेर का पूजन

दीपावली के दिन भगवान गणेश, कुबेर, महालक्ष्मी तथा कलम -दवात के पूजन का विशेष महत्व है। पंडित किराडू के अनुसार इस अवसर पर भगवती का षोडशोपचार पूजन करना चाहिए। गन्ना रस से श्रीसूक्त कनकधारा स्त्रोत से अभिषेक का अधिक महत्व है। रात्रि पर्यन्त जागरण कर लक्ष्मी सूक्त एवं श्रीगोपाल सहस्त्रनाम स्त्रोत पाठ करना चाहिए। शास्त्र में पद्म पुराण लक्ष्मी रहस्यम आदि ग्रंथों में उल्लेख है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Corona Update in Delhi: दिल्ली में संक्रमण दर 30% के पार, बीते 24 घंटे में आए कोरोना के 24,383 नए मामलेSSB कैंप में दर्दनाक हादसा, 3 जवानों की करंट लगने से मौत, 8 अन्य झुलसे3 कारण आखिर क्यों साउथ अफ्रीका के खिलाफ 2-1 से सीरीज हारा भारतUttar Pradesh Assembly Election 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य समेत कई विधायक सपा में शामिल, अखिलेश बोले-बहुमत से बनाएंगे सरकारParliament Budget session: 31 जनवरी से होगा संसद के बजट सत्र का आगाज, दो चरणों में 8 अप्रैल तक चलेगाHowrah Superfast- हावड़ा सुपरफास्ट से यात्रा करने वाले यात्रियों को परिवर्तित मार्ग से करना पड़ेगा सफर, इन स्टेशनों पर नहीं जाएगी ट्रेनपूर्व केंद्रीय मंत्री की भाजपा में वापसी की चर्चाएं, सोशल मीडिया पर फोटो से गरमाई सियासतTrain Reservation- अब रेल यात्रियों के पांच वर्ष से छोटे बच्चों के लिए भी होगी सीट रिजर्व, जानने के लिए पढ़े पूरी खबर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.