बीकानेर से अयोध्या में होता है ऑनलाइन दीपदान

- अयोध्या के पंडित करवाते हैं पूजाकर्म, वीडियो कॉलिंग से करवाते हैं मंत्रोच्चार

 

By: dinesh swami

Published: 12 Nov 2020, 08:00 AM IST

एक्सक्लूसिव स्टोरी
बीकानेर.कोरोना महामारी ने धार्मिक मान्यताओं को भी बदलकर रख दिया है। बीकानेर से हर साल कार्तिक महीने में अयोध्या एवं हरिद्वार जाकर दीपदान करने वाले श्रद्धालु इस बार ऑनलाइन दीपदान कर रहे हैं। बीकानेर से रोजाना पांच सौ से ग्यारह हजार तक दीपक अयोध्या में जलाए जा रहे हैं। दीप जलाने का कार्य भले ही अयोध्या के पंडित करते हों, लेकिन बीकानेर में बैठे श्रद्धालु उन दीपदान के दर्शन कर लेते हैं। इतना ही नहीं वीडियो कॉलिंग के माध्यम से अयोध्या में बैठे पंडित बकायदा मंत्रोच्चार के साथ यह कार्य करवाते हैं।

दो लोगों ने उठाया बीड़ा

बीकानेर के लोगों की धार्मिक प्रवृत्ति और कोरोना महामारी को देखते हुए यहां के दो लोगों ने अयोध्या में ऑनलाइन दीपदान करवाने का बीड़ा उठाया है। बीकानेर के श्याम सुंदर सोनी एवं संजय कुमार लावट ने बताया कि इस कार्य में हिस्सा लेने वाले श्रद्धालु के मोबाइल नंबर एवं नाम अयोध्या के पंडितों को बताए जाते हैं, इसके बाद सुबह और शाम को होने वाले दीपदान से पहले अयोध्या के पंडित संबंधित परिवार के सदस्य को वीडियो कॉलिंग की जाती है। श्रद्धालु को बताए अनुसार मंत्रोच्चार करवाने के बाद वहां के पंडित सरयू तट के घाट पर दीपदान करते हैं। दीपदान का नजारा वहां के पंडितों द्वारा लाइव वीडियोग्राफी से बताते हैं।

कोरोना के चलते बना ली दूरी

ऑनलाइन दीपदान से जुड़े श्याम सुंदर सोनी ने बताया कि कोरोना संक्रमण के चलते भले ही लोगों ने धार्मिक स्थलों से दूरी बना ली हो, लेकिन धार्मिक पर पराओं के निर्वहन में कोई कमी नहीं आई है। सोनी बताते हैं कि ऑनलाइन दीपदान में बीकानेर के डॉक्टर, इंजीनियर, सामान्य परिवार एवं धार्मिक प्रवृत्ति से जुड़े सैंकड़ों परिवार पिछले एक सप्ताह में हिस्सा ले चुके हैं। ऑनलाइन दीपदान में काम आने वाले शुद्ध घी और अन्य जरूरत के सामान को श्याम संदर सोनी अयोध्या के पंडितों को मुहैया करवाते हैं।

Show More
dinesh swami Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned