वसूली बनी चुनौती, सरकारी महकमा बड़ा बकायादार

बिजली बिलों के करोड़ों रुपए बकाया

 

By: dinesh kumar swami

Updated: 19 Jan 2019, 10:35 AM IST

बीकानेर. बिजली बिलों की बकाया वसूली करने में विद्युत निगम को पसीना आ रहा है। बीते दिसंबर तक यह आंकड़ा दो सौ करोड़ रुपए के पार चला गया है। इसमें घरेलू, कृषि, अघरेलू व सरकारी महकमे शामिल हैं। बकायादारों से पैसा निकलवाने के लिए विद्युत निगम लगातार ब्याज माफी में छूट (एमनेस्टी स्कीम) दे रहा है, इसके बाद भी निगम को पर्याप्त वसूली नहीं होती। एमनेस्टी स्कीम की तिथि में इजाफा किया जा रहा है। बीते दिसंबर तक 279 करोड़ की राशि बकाया चल रही है।

 

जलदाय विभाग में 20 करोड़
बकायादारों में जलदाय विभाग भी शामिल है। बीकानेर जिलावृत्त में 30 नवंबर तक जलदाय विभाग में 21 करोड़ 54 लाख रुपए की बकाया चल रही है। इसमें जिले के जलदाय विभाग के दफ्तरों में 20 करोड़ 8 लाख रुपए की बकाया चल रही है। साथ ही 1 करोड़ 45 लाख रुपए की बकाया जलदाय विभाग के कटे हुए कनेक्शनों में बकाया पड़े हैं।

 

कृषि में 150 करोड़
कृषि उपभोक्ताओं में 150 करोड़ रुपए की बकाया चल रही है। इसकी वसूली करने में विद्युत निगम को मशक्कत करनी पड़ रही है। इसके अलावा जिलावृत्त के ग्रामीण घेरलू उपभोक्ताओं में 68 करोड़ रुपए की बकाया है। विद्युत निगम समय-समय पर वसूली के लिए अभियान चलाता है।

 

बनाएंगे कार्य योजना
बकाया की वसूली नियमित चल रही है। इसके अलावा अब नई कार्य योजना तैयार कर विशेष अभियान भी चलाया जाएगा। इसके लिए टीमें गठित की हैं। उपभोक्ता एमनेस्टी योजना का लाभ उठा सकता है।
कृष्णलाल घुघरवाल, अधीक्षण अभियंता।

dinesh kumar swami
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned