दुर्गाष्टमी पर शक्ति की उपासना, घरों व मंदिरों में कन्या पूजन

दुर्गाष्टमी पर्व मनाया : घर -घर व मंदिरों में हुआ देवी प्रतिमाओं का पूजन
हवन में आहुतियां, पंडालों में धार्मिक अनुष्ठान

दुर्गानवमी आज, शारदीय नवरात्रा की होगी पूर्णाहुति

 

By: Vimal

Published: 14 Oct 2021, 05:11 PM IST

बीकानेर. शारदीय नवरात्रा के आठवें दिन महाअष्टमी पर्व मनाया गया। दुर्गाष्टमी पर घर-घर और मंदिरों में देवी प्रतिमाओं का पूजन कर महाआरती की गई। महाअष्टमी पर श्रद्धालुओं ने देवी स्वरूप कन्याओं का पूजन कर उनसे आशीर्वाद प्राप्त किया। घरों में स्थापित देवी प्रतिमाओं का तेल, सिंदूर, बर्ग, मालीपाना आदि सामग्री से पूजन कर लापसी का विशेष भोग अर्पित किया। आठ नवरात्रा व्रत-पूजन करने वाले श्रद्धालुओं ने नवरात्रा अनुष्ठान की पूर्णाहुति की। इस दौरान हवन में आहुतियां दी गई।


दुर्गाष्टमी पर अलसुबह से ही देवी मंदिरों में श्रद्धालुओं की भीड़ रही। मंदिरों में कतारों में लगकर श्रद्धालुओं ने दर्शन -पूजन किए। मंदिर परिसर मां के जयकारों से गूंजते रहे। देवी प्रतिमाओं का विशेष पूजन कर शृंगार किया गया। महाआरती में बड़ी संख्या में श्रद्धालु शामिल हुए। दुर्गानवमी पर्व गुरुवार को मनाया जाएगा। श्रद्धालु नवरात्रा पूजन अनुष्ठान की पूर्णाहुति करेंगे। हवन में आहुतियां दी जाएगी व कन्या पूजन के आयोजन होंगे।

 

दुर्गा पूजा महोत्सव की पूर्णाहुति आज

शारदीय नवरात्रा में चल रहे दुर्गा पूजा महोत्सव की पूर्णाहुति गुरुवार को होगी। गली-मोहल्लों में स्थापित की गई देवी प्रतिमाओं का पवित्र सरोवरों में विसर्जन किया जाएगा। इससे पहले देवी प्रतिमाओं के आगे हवन में आहुतियां दी जाएंगी। गाजे बाजे से प्रतिमाओं को विसर्जन के लिए ले जाया जाएगा। वहीं पहले नवरात्रा से चल रहे नवरात्रा पूजन अनुष्ठान और व्रत -उपासना की पूर्णाहुति भी गुरुवार को होगी।

 

पंडालों में गूंजे मंत्र, डांडिया नृत्य के आयोजन
दुर्गा पूजा महोत्सव में गुरुवार को गली-मोहल्लों में स्थापित देवी प्रतिमाओं के आगे दुर्गा सप्तशती पाठ व देवी मंत्रों का जाप हुआ। मंत्रोच्चारण के बीच देवी प्रतिमाओं का पूजन कर आरती की गई। देर शाम से रात तक देवी प्रतिमाओं के आगे बालिकाओं व महिलाओं ने भक्ति गीतों की धुनों पर डांडिया नृत्य प्रस्तुत किए। देवी प्रतिमाओं के आगे विविध भोजन सामग्री के भोग अर्पित किए गए।

 

दुर्गा सप्तशती पाठ, हवन में आहुतियां
अमरसिंहपुरा स्थित वैष्णो देवी सोमारनाथ महादेव मंदिर में दुर्गाष्टमी पर्व धार्मिक अनुष्ठानों के आयोजन के साथ मनाया गया। मंदिर संस्थापक श्याम सिंह राजवी के अनुसार मंदिर में देवी प्रतिमा का अभिषेक, पूजन कर शृंगार किया गया। दुर्गासप्तशती पाठ व कीर्तन का आयोजन हुआ। मंत्रोच्चारण के बीच हवन में आहुतियां दी गई। पंडित सत्यप्रकाश के सान्निध्य में हवन -पूजन हुए। इस दौरान भागीरथ सिंह राजवी, दिनेश राजवी और जसवंत सिंह राजवी, कविता गुप्ता, सुमन शर्मा, नीना गर्ग, दीपा भाटी, दीपिका, उमा बंसल, सुभाष बंसल आदि ने हवन मे आहुतियां दी।

 

कलश यात्रा निकाली, मूर्तियों की प्राण प्रतिष्ठा आज

श्री कुल देवी शक्तिपीठ मंदिर के पंच दिवसीय महाकाली, महासरस्वती, महालक्ष्मी मूर्तियों की प्राण प्रतिष्ठा गुरुवार को होगी। मूर्ति प्राण प्रतिष्ठा समारोह के चौथे दिन बुधवार को खाटूश्याम मंदिर जयपुर रोड से श्री कुलदेवी शक्तिपीठ श्याम विहार जयपुर रोड तक कलश यात्रा निकाली गई। धार्मिक अनुष्ठान में नित्य पूजन के साथ मूर्तियों का शैय्याधिवास किया गया। इस दौरान बीकानेर पूर्व विधायक सिद्धि कुमारी, ज्योतिषाचार्य उत्तम पारीक, डॉ. शिव प्रसाद जोशी, चन्द्रा व्यास उपस्थित रहे। पंडित अशोक ओझा के आचार्यत्व में मूर्ति प्राण प्रतिष्ठा के पूजन कार्यक्रम सम्पन्न हो रहे है।

Vimal Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned