शिक्षा विभाग की नई पहल, अब इस एप से होगा स्कूली विद्यार्थियों की शंकाओं का समाधान

शिक्षा विभाग की नई पहल, अब इस एप से होगा स्कूली विद्यार्थियों की शंकाओं का समाधान

dinesh swami | Publish: May, 23 2018 01:20:27 PM (IST) Bikaner, Rajasthan, India

अब इस एप से होगा स्कूली विद्यार्थियों की शंकाओं का समाधान

निखिल स्वामी/बीकानेर. अब राजस्थान के विद्यार्थियों को भी नए सत्र में क्यूआर कोड से संबंधित विषय की पूरी जानकारी मिल सकेगी। साथ ही विद्यार्थियों को उनकी शंकाओं का समाधान भी होगा। इसके लिए माध्यमिक शिक्षा विभाग ने एक नई पहल की है। इसमें दीक्षा एप के माध्यम से विद्यार्थियों को विषय की पूरी जानकारी मिल जाएगी। माध्यमिक शिक्षा की कक्षा ९ व १० के गणित व विज्ञान विषयों के विद्यार्थियों को उनकी पाठ्यपुस्तक में संबंधित जानकारी के लिए क्यूआर कोड से जानकारी मिल जाएगी।

 

यह क्यूआर कोड पहले महाराष्ट्र, तमिलनाडू, आंध्रप्रदेश, उत्तरप्रदेश जुड़े हुए थे। अब अप्रेल में राजस्थान को भी शामिल किया गया है। राजस्थान में नए सत्र से विद्यार्थियों की किताबों में क्यूआर कोड अंकित होगा। इन दिनों चल रहे प्रशिक्षण शिविर में शिक्षकों को क्यूआर कोड की पूरी जानकारी दी जा रही है। जून में नए पैटर्न की किताबें आएंगी। अधिकारियों का कहना है कि क्यूआर कोड में विद्यार्थी स्केन के बाद पूरी एक लिस्ट खुलेगी। इसमें वीडियो व पीडीएफ फाइलें होगी। इन फाइलों को खोलने के बाद दूसरे देश के विषय-विशेषज्ञों की संबंधित विषय की पूरी जानकारी आ जाएगी। इससे विद्यार्थी संबंधित विषय को बारीकी से पढ़ सकेंगे और समझ सकेंगे।

 

 

दीक्षा ऐप करना होगा इंस्टॉल
किताबों में क्यूआर कोड के लिए विद्यार्थियों को अपने मोबाइल में दीक्षा ऐप इंस्टॉल करना होगा। इसके लिए प्ले स्टॉर से दीक्षा एप डाउनलोड कर इंस्टॉल करें। इसके बाद एप्लीकेशन को खोलकर अपनी भाषा चुनें। इसमें गेस्ट यूजर के रूप में स्टूडेंट चुनें। इसके बाद ऊपर दाईं ओर दिए गए क्यूआर कोड स्कैनर आइकन को टैप करें और पाठ्यक्रम में मुद्रित किए गए एक क्यूआर कोड को स्केन करें। स्केन के बाद जुड़े हुए विषय की सूची प्रदर्शित होगी। सूची पर वांछित सामग्री देखने के लिए लिंक पर क्लिक करें।

 

 

प्रत्येक प्रश्न के आगे होगा क्यूआर कोड
यह क्यूआर कोड गणित व विज्ञान की किताबों में प्रत्येक प्रश्न के आगे अंकित होगा। पूरी किताब में करीब २८९ क्यूआर कोड होंगे। इससे विद्यार्थी क्यूआर कोड की मदद से पूरी जानकारी ले सकेंगे।

 

अभी दो किताबों में
राजस्थान में पहली बार किताबों में क्यूआर कोड लागू हो रहा है। यह कक्षा ९ व १० की गणित व विज्ञान विषयों के विद्यार्थियों की किताबों में होगा। क्यूआर कोड से विषय की पूरी बारीकी देख सकते हैं।
हेतराम सारण, अतिरिक्त जिला परियोजना समन्वयक, रमसा, बीकानेर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned