शिक्षकों के रिक्त पदों से हो रही बच्चों की पढ़ाई चौपट, लोगों में आक्रोश

dinesh swami

Publish: Nov, 15 2017 02:39:38 (IST)

Bikaner, Rajasthan, India
शिक्षकों के रिक्त पदों से हो रही बच्चों की पढ़ाई चौपट, लोगों में आक्रोश

रिक्त शिक्षकों के पदों पर नियुक्ति को लेकर ग्रामीणों की विभाग द्वारा सुनवाई नहीं करने पर नाराज अभिभावक तालाबन्दी करेंगे।

श्रीकोलायत. बीठनोक पंचायत मुख्यालय स्थित राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय में रिक्त शिक्षकों के पदों पर नियुक्ति को लेकर ग्रामीणों की विभाग द्वारा सुनवाई नहीं करने पर नाराज अभिभावक बुधवार से तालाबन्दी करेंगे। यह निर्णय एक सप्ताह पूर्व ग्रामीणों द्वारा बैठक में लिया गया था।

 

सरपंच प्रतिनिधि अर्जुन कुमावत ने बताया कि जिला शिक्षाधिकारी से गणित, विज्ञान सहित रिक्त पदों पर नियुक्ति करने के लिए कई बार गुहार लगाने के बाद भी विभाग सुनवाइ्र नहीं कर रहा है। नाराज अभिभावकों ने मंगलवार को सरपंच कान्ता चान्दोरा, भाजयुमो उपाध्यक्ष रणजीत पुरोहित, सोहन बन स्वामी, जेठूङ्क्षसह पडि़हार, नरेन्द्रङ्क्षसह, महेन्द्रङ्क्षसह, दलीपसिंह, किशोरी पे्ररणा मंच, किशोरी मंच, ग्राम विकास समिति के सदस्यों ने विद्यालय के प्रधानाचार्य को बुधवार को की जाने वाली तालाबन्दी की जानकारी दी।

 

रिक्त पदों से बच्चों की पढ़ाई चौपट
दंतौर. मण्डी के राजकीय माध्यमिक विद्यालय में रिक्त पदों को भरने को लेकर ग्रामीणों ने जिला कलक्टर व जिला शिक्षा अधिकारी को पत्र भेजा है। पंचायत समिति सदस्य भीखाराम जाखड़ व ग्रामीणों ने बताया कि विद्यालय में लंबे समय से प्रधानाध्यापक सहित 10 पद रिक्त हैं।

 

विद्यालय में 336 छात्र-छात्राओं का नामांकन है। अध्यापकों के रिक्त पदों के कारण बच्चों की पढ़ाई बाधित हो रही है। ग्रामीणों ने जिला कलक्टर व जिला शिक्षा अधिकारी से शीघ्र ही रिक्त पदों को भरने की मांग की है। ग्रामीणों ने 15 दिन में रिक्त पदों को नही भरने पर हड़ताल, अनशन व तालाबन्दी करने की चेतावनी दी है।

 

चार नलकूप फिर भी प्यासे
बीकानेर . जेगला गांव में इन दिनों पानी किल्लत से ग्रामीणांे को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। पानी के लिए ग्रामीण भटकने को मजबूर हो रहे हैं। गांव के मस्तानाराम पूनिया ने बताया कि गांव में चार सरकारी नलकूप है। इसमें से एक तो शुरू ही नहीं हो पाया तथा दो खराब पडे हैं। एक चल रहा है लेकिन पर्याप्त कर्मचारी नहीं होने से पानी की आपूर्ति नही हो पा रही है।

 

ग्रामीणों को टैंकर से पानी डलवाना पड़ रहा है। इसके लिए 500 रुपए तक चुकाने पड़ रहे हैं। पानी के लिए गांव के मवेशी भी भटक रहे हैं। जलदाय विभाग के अधिकारियों को भी कई बार सूचित कर चुके है लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला है। इससे ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त है। अब ग्रामीण आंदोलन की राह पकडऩे का मानस बना चुके हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned