scriptदस्तावेज सत्यापन के साथ ही परवान चढ़ेगी चुनावी रंगत | Patrika News
बीकानेर

दस्तावेज सत्यापन के साथ ही परवान चढ़ेगी चुनावी रंगत

इस बार तिथि में बढ़ोतरी होने की उमीद कम ही नजर आ रही है। तीन जुलाई तक आवेदन भरे जाने के बाद विद्यार्थियों को पहली कट ऑफ का इंतजार रहेगा। पहली सूची जारी होने के साथ ही विद्यार्थी कॉलेजों में विद्यार्थियों की चहल-पहल शुरू हो जाएगी।

बीकानेरJun 29, 2024 / 06:05 pm

Atul Acharya

करीब एक महीना बीत जाने के बाद आखिरकार कॉलेजों में जल्द ही रौनक फिर से लौटेगी। हालांकि इन दिनों प्रवेश को लेकर ऑनलाइन प्रक्रिया चल रही है। लेकिन आवेदन कम होने की वजह से दो बार इसकी तिथि में भी बढ़ोतरी की जा चुकी है। इस बार तिथि में बढ़ोतरी होने की उमीद कम ही नजर आ रही है। तीन जुलाई तक आवेदन भरे जाने के बाद विद्यार्थियों को पहली कट ऑफ का इंतजार रहेगा। पहली सूची जारी होने के साथ ही विद्यार्थी कॉलेजों में विद्यार्थियों की चहल-पहल शुरू हो जाएगी। इसके बाद दस्तावेज सत्यापन करवाने के लिए भी विद्यार्थियों को कॉलेजों में आना पड़ेगा। दस्तावेज सत्यापन शुरू होने के साथ ही छात्र संगठन भी सक्रिय हो जाएंगे। जानकारों के अनुसार इसके साथ ही चुनाव की रंगत भी परवान चढ़नी शुरू हो जाएगी। मुय गेट से खिड़की तक हेल्प डेस्क भी हर तरफ दिखनी शुरू हो जाएगी। यह डेस्क कब और कहां लगेगी, इसको लेकर प्लानिंग भी अभी से ही शुरू कर दी गई है।
बनेगी हेल्प डेस्क, छपेंगे विजिटिंग कार्ड

दस्तावेज सत्यापन शुरू होने के साथ ही चुनाव में भाग्य अजमाने वाले विद्यार्थियों और छात्र संगठनों की ओर से अलग-अलग हेल्प डेस्क लगाकर विद्यार्थियों से सीधा संपर्क साधने का प्रयास किया जाएगा। अभी से ही छात्र नेताओं की ओर से मोबाइल नंबर और एड्रेस की डिक्शनरी तैयार करनी शुरू कर दी गई है। अलग-अलग विजिटिंग कार्ड भी छपवाए जा रहे हैं। सोशल मीडिया पर भी अपना दमखम दिखाने के लिए अलग-अलग टीमों को तैयार करने का काम भी होगा।
गत वर्ष नहीं हुए चुनाव

पिछले साल छात्र संगठनों की ओर से चुनाव की तैयारियां की गई थीं। लेकिन सरकार की ओर से चुनाव निरस्त कर दिए गए थे। इससे पहले 2022 में हुए चुनावों में महाराजा गंगासिंह विश्वविद्यालय में एबीवीपी ने जीत दर्ज की थी। वहीं राजकीय डूंगर और महारानी सुदर्शन कन्या महाविद्यालय से एनएसयूआई ने अध्यक्ष पद पर जीत हासिल की थी।
जल्द होगी बैठक

एनएसयूआई की ओर से चुनावों को लेकर जल्द ही बैठक का आयोजन किया जाएगा। जिसमें सभी संगठन के नेताओं के साथ आगे की चर्चा की जाएगी। इसके अलावा दस्तावेज सत्यापन करवाने आने वाले विद्यार्थियों के सहयोग के लिए हेल्प डेस्क भी लगाई जाएगी।
-कृष्ण कुमार गोदारा, जिलाध्यक्ष, एनएसयूआई

सहयोग के लिए हमेशा तैयार

दस्तावेज सत्यापन शुरू होने के साथ कॉलेज में विद्यार्थियों का आना शुरू हो जाता है। इसमें विद्यार्थियों के सहयोग के लिए हेल्प डेस्क का भी गठन किया जाएगा। ताकि किसी भी विद्यार्थी को कोई समस्या का सामना न करना पड़े। कॉलेज में आने वाले विद्यार्थियों के सहयोग के लिए हमेशा तैयार हैं।
-मोहित बापेउ, छात्र नेता, एबीवीपी

Hindi News/ Bikaner / दस्तावेज सत्यापन के साथ ही परवान चढ़ेगी चुनावी रंगत

ट्रेंडिंग वीडियो