आधा दर्जन गांवों में गहराया जलसंकट, लोगों को करना पड़ रहा परेशानी का सामना

dinesh swami

Publish: Jan, 14 2018 02:02:43 PM (IST)

Bikaner, Rajasthan, India
आधा दर्जन गांवों में गहराया जलसंकट, लोगों को करना पड़ रहा परेशानी का सामना

जलदाय विभाग की अनदेखी के चलते तहसील क्षेत्र के आधा दर्जन गांवों में सर्दी के मौसम में जलसंकट गहराने से परेशानी झेलनी पड़ रही है।

लूणकरनसर. जलदाय विभाग की अनदेखी के चलते तहसील क्षेत्र के आधा दर्जन गांवों में सर्दी के मौसम में जलसंकट गहराने से परेशानी झेलनी पड़ रही है। उपखण्ड क्षेत्र के ग्राम अरजनसर में करोड़ों रुपए की जलप्रदाय योजना पर गत आठ दिनों से मोटर पम्प जला हुआ है तथा मोटर पम्प दुरस्त नहीं करने से ग्राम चकजोड़, फूलेजी व नया खानीसर में जलापूर्ति बाधित है। पानी के अभाव में गांवों के जल भण्डारण के पात्र सूखे पड़े है। ऐसी स्थिति में ग्रामीणों को भयंकर पेयजल संकट झेलना पड़ रहा है। पानी के अभाव में सूखी पशुखैलियां पर आवारा पशुधन भटकने को विवश है।

 

सामाजिक कार्यकर्ता रामकिसन ने बताया कि इन तीनों गांवों की जलापूर्ति के लिए जलप्रदाय योजना पर दो मोटर पम्प लगे थे। इनमें से एक जला पड़ा है तथा दूसरे की जानकारी विभागीय कार्मिकों को भी नहीं है। इसको लेकर अधिशासी अभियंता शरद माथुर को अवगत करवाकर जलापूर्ति सुचारू करवाने की मांग उठाई है। इसके अलावा तहसील के ग्राम राजासर उर्फ करणीसर व चक एक एलकेडी में भी मोटर पम्प की खराबी के चलते नलकूप नकारा बने हुए है तथा पानी के अभाव में ग्रामीण परेशान है।

 

सर्दी में जल संकट
राववाला. ग्राम पंचायत बरसलपुर के चक 3 बीडीवाई आबादी में जोगी समाज के लोग लम्बे समय से पानी की समस्या जूझ रहे हैं लेकिन विभाग व जनप्रतिनिधि कोई सुध नहीं ले रहे है। यहां दो दर्जन परिवारों के ग्रामीणों को पीने के पानी के लिए भटकना पड़ रहा है। करीब दो किलोमीटर दूर बरसलपुर माईनर की 12 आरडी राववाला बरसलपुर रोड पर बनी डिग्गियों से महिलाओं को सिर पर मटकों से पानी लेकरआना पड़ता है।

 

करीब पांच वर्ष पूर्व जलदाय विभाग द्वारा डिग्गी बनाई गई थी जो बरसलपुर माइनर से पाइप लाइन दारा जोड़ दी गई थी। अधिकारियों की लापरवाही माने या ठेकेदारों के साथ मिलीभगत के कारण पाइप लाइन से एक बार भी डिग्गी में पानी नही आया था। अधिशाषी अभियंता व सहायक अभियंता द्वारा ठेकेदारों का पूर्ण भुगतान कर दिया गया था।

 

ग्रामीण पानी की समस्या के लिए कई बार अधिकारियों को गुहार लगाई लेकिन कोई सुनवाई नही हुई। मजेदार बात यह है कि ग्राम पंचायत बरसलपुर में पानी की आपूर्ति होती है। पाइप लाइन इस आबादी के अंदर से निकलती लेकिन इन गरीब लोगों को पानी नही दिया जा रहा है।

 

गंदा पानी पीने को विवश
लूणकरनसर. तहसील के तीन गांवों के ग्रामीण अरसे से गंदा पानी पीने को विवश है। रामबाग के रणजीत सिंह ने बताया कि जलापूर्ति के लिए जलदाय विभाग ने पेयजल भण्डारण के लिए डिग्गी बना रखी है। इस डिग्गी से रामबाग व जैतपुर पंचायत के चक नोहड़ा व चक राईका में पाइप लाइन से जलापूर्ति की जाती है लेकिन जलदाय विभाग द्वारा

 

तीन गांवों के लिए पेयजलापूर्ति की इस डिग्गी की पिछले सात सालों में एक बार भी सफाई नहीं करवाने से गंदगी से अटी पड़ी है तथा पानी बदबू मार रहा है। सफाई के अभाव में पानी की ऊपरी तह पर गंदगी अटने से पेंदा भी दिखाई नहीं देता। ग्रामीणों द्वारा कई बार विभागीय अधिकारियों को सफाई करवाने के लिए अवगत करवाया गया। लेकिन सुनवाई नहीं होने से विवश होकर पानी पीने को मजबूर है। ऐसी स्थिति में लोग पेटदर्द, पीलिया, पथरी समेत अन्य जलजनित रोगों के शिकार हो रहे है।

 

पाइप लाइन टूटने से व्यर्थ बहा अमृत
नापासर. यहां मुख्य बाजार की नेताजी गली में शनिवार को पेयजल लाइन टूटने से पेयजल व्यर्थ बह गया। क्षेत्र के मेडिकल स्टोर संचालक मुकेश सुथार ने बताया कि पाइप लाइन में लीकेज से संकरी गली में पानी भरने से आवागमन में लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। इस सम्बन्ध में जलदाय विभाग को अवगत करवाया लेकिन देर शाम तक लीकेज सही नही किया गया।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned