बीकानेर में शासन सचिव ने अधिकारियों की ली बैठक

बीकानेर में शासन सचिव ने अधिकारियों की ली बैठक

Anushree Joshi | Publish: Feb, 15 2018 12:20:10 PM (IST) Bikaner, Rajasthan, India

अनियमितता से राज्य की गिरी साख, टीमों को सही जांच नहीं करने पर कड़ी कार्रवाई की चेतावनी

मनरेगा आयुक्त एवं शासन सचिव रोहित कुमार ने महाशिवरात्रि के अवकाश के दिन मंगलवार को अधिकारियों की बीकानेर में गोपनीय तरीके से बैठक ली। उन्होंने जिला कलक्टर, जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी तथा पंचायतीराज के अधिकारियों के साथ बैठक कर मनरेगा में अनियमितताओं के प्रकरणों पर नाराजगी जताई।

 

शासन सचिव ने अधिकारियों से कहा कि बीकानेर में मनरेगा में अनियमितता के कारण राजस्थान की देशभर में साख गिरी है। उन्होंने जांच टीमों को हिदायत दी कि जांच सही की जाए, अन्यथा कड़ी कार्रवाई की जाएगी। शासन सचिव के साथ अतिरिक्त आयुक्त एवं मनरेगा निदेशक राजेन्द्र कुमार जैन मंगलवार को जयपुर से विमान से आए।

 

वित्त सलाहकार एवं तकनीकी अधिकारी भी उनके साथ थे। वे बीकानेर पहुंचने पर सीधे कलक्ट्रेट पहुंचे। वहां मीडिया के लोगों को देखकर कलक्टर पर भड़के गए। बाद में जिला कलक्ट्रर ने जनसम्पर्क अधिकारी समेत मीडिया से आए लोगों को बाहर भेज दिया।

 

मिट्टी के कामों में अनियमितता
जिले के नोखा, पांचू, लूणकरनसर एवं खाजूवाला में मनरेगा में मिट्टी के समतलीकरण के 3-3 लाख रुपए के काम सर्वाधिक स्वीकृत किए गए। हर साल मिट्टी समतलीकरण के 5 से 5 हजार काम स्वीकृत किए जाते रहे हैं। इन कामों का वैल्यूवेशन नहीं हो सकता। व्यक्तिगत लाभ के मेढ़बंदी और 'अपना खेत अपना काम' में पशु शेड बनाने की स्वीकृतियां भी दी गई। अब ये काम जांच के दायरे में लिए गए हैं।

 

निष्पक्ष जांच के निर्देश
मनरेगा आयुक्त एवं शासन सचिव रोहित कुमार ने पंचायतीराज के अधिकारियों की बैठक में निष्पक्ष जांच करने तथा निर्धारित समय पर रिपोर्ट देने के निर्देश दिए हैं।
अजीत सिंह , सीईओ, जिला परिषद बीकानेर

 

रेस्टा ने दी आंदोलन की चेतावनी
पदेन पंचायत प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी (पीईईओ) के अधीन शिक्षकों को अभी तक वेतन नहीं मिला है। इससे शिक्षकों को आर्थिक परेशानी उठानी पड़ रही है। राजस्थान वरिष्ठ शिक्षक संघ (रेस्टा) के प्रदेश उप सभाध्यक्ष मोहरसिंह सलावद ने बताया कि बीकानेर में 294 पीईईओ हैं,

 

जिनके पास सुविधाओं का अभाव होने से शिक्षकों का वेतन नहीं बना पाए रहे हैं। सलावद ने शिक्षा निदेशक से मांग की है कि शिक्षकों के वेतन की व्यवस्था वापस बीईईओ के माध्यम से करवाई जाए या वेतन जल्द दिलवाया जाए। शिक्षकों को वेतन जल्द नहीं मिला तो रेस्टा राज्यभर में आंदोलन करेगा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned