लिफाफे में 95 की जगह निकले महज 5 पेपर

-दसवीं अर्द्धवार्षिक परीक्षा के पेपर का मामला , स्कूलों में चल रहे अर्दवार्षिक परीक्षा में शिक्षा विभाग की ओर से भेजे जा रहे पेपर बन्द लिफाफों में पेपर कम निकल रहे है।

स्कूलों में चल रहे अर्दवार्षिक परीक्षा में शिक्षा विभाग की ओर से भेजे जा रहे पेपर बन्द लिफाफों में पेपर कम निकल रहे है।  



बीकानेर ब्लॉक के दियातरा गांव की भानूप्रताप शिक्षण संस्थान माध्यमिक विद्यालय में मंगलवार को दसवीं के पेपर कम पहुंचे। बन्द लिफाफे के ऊपर पेपर संख्या 95 लिखी हुई थी लेकिन लिफाफा खोलने पर अन्दर महज  5 पेपर ही निकले।  



शिक्षा विभाग की इस गफलत से परीक्षा शुरू होने के एन वक्त परेशानी खड़ी हो गई।  मंगलवार को  दसवीं का राजस्थान अध्ययन विषय का पेपर था । स्कूल प्रबन्धन ने बाजार से फोटोकॉपी करवाकर विद्यार्थियों का यह पेपर कराया।



स्कूल शिक्षा में वार्षिक और अर्दवार्षिक समान परीक्षा व्यवस्था प्रभावी है। शिक्षण संस्था से प्रति पेपर तय शुल्क लेकर छात्र संख्या के अनुरूप सील लिफाफों में पेपर उपलब्ध कराए जाते है।



 प्रिंटिंग प्रेस को तय संख्या के पेपर छापकर देने का टेंडर होता है। लेकिन विभाग की गफलत के चलते पुरे पेपर स्कूलों तक नहीं पहुचते। दियातरा ताज़ा उदाहरण हमारे सामने है।  

dinesh swami
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned