scriptHe Had Hoisted Flag For First Time In The Princely State Of Bikaner | Independence Day 2022: ...इन्होंने फहराया था बीकानेर रियासत में पहली बार झंडा, बाप-बेटे दोनों कूदे थे आजादी की जंग में | Patrika News

Independence Day 2022: ...इन्होंने फहराया था बीकानेर रियासत में पहली बार झंडा, बाप-बेटे दोनों कूदे थे आजादी की जंग में

prIndependence Day 2022: वैद्य मघाराम शर्मा ने बीकानेर सहित कलकत्ता और प्रदेश के कई स्थानों पर स्वतंत्रता आंदोलनों व संगठनों में प्रभावी भूमिका निभाई।

बीकानेर

Published: August 15, 2022 02:54:42 pm

बीकानेर. देश की आजादी के लिए चले आंदोलन में देश के गांव-गांव और शहर-शहर से आजादी के दीवानों ने आंदोलन की अलख जलाई। जेल गए, यातनाएं सहीं और आमजन को आंदोलनों के जरिए जागरूक किया। देश गुलामी की बेडि़यों से मुक्त हो और देशवासी आजादी से श्वास ले सकें, इसके लिए व्यक्तिगत प्रयासों के साथ कई परिवार आजादी के समर में कूद पड़े। वर्षों तक आंदोलनों में सक्रिय भूमिका निभाई। ऐसे ही स्वतंत्रता सेनानी परिवारों में शामिल है बीकानेर के स्वतंत्रता सेनानी वैद्य मघाराम शर्मा का परिवार।

Independence Day 2022: ...इन्होंने फहराया था बीकानेर रियासत में पहली बार झंडा, बाप-बेटे दोनों कूदे थे आजादी की जंग में
Independence Day 2022: ...इन्होंने फहराया था बीकानेर रियासत में पहली बार झंडा, बाप-बेटे दोनों कूदे थे आजादी की जंग में

आजादी के आंदोलन में स्वतंत्रता सेनानी वैद्य मघाराम शर्मा, बहन खेती बाई और पुत्र रामनारायण शर्मा कई आंदोलनों में अग्रणी रहे। वैद्य मघाराम शर्मा ने बीकानेर सहित कलकत्ता और प्रदेश के कई स्थानों पर स्वतंत्रता आंदोलनों व संगठनों में प्रभावी भूमिका निभाई। कलकत्ता में बीकानेर प्रजा मंडल के गठन में अग्रणी रहे। बहन खेती बाई भी राज के सैनिकों से लोहा लेकर प्रभावी भूमिका में रहीं। शहर में स्वतंत्रता सेनानी रामनारायण शर्मा सक्रिय रहे। कई बार जेल गए, यातनाएं सहीं और शहर में देश की आजादी से पहले पहली बार तिरंगा फहराया।

पिता-पुत्र कूदे आजादी के समर में

देश के आजादी के आंदोलन में पिता और पुत्र के एक साथ आजादी की अलख जगाने में वैद्य मघाराम शर्मा व रामनारायण शर्मा की भूमिका अहम रही। स्वतंत्रता सेनानी रामनारायण शर्मा के पुत्र शांति लाल शर्मा बताते हैं कि उस दौर में दादाजी वैद्य मघाराम शर्मा व पिता रामनारायण शर्मा ने तत्कालीन रियासतों व अंग्रेज सरकार के खिलाफ कई आंदोलनों में सक्रिय भूमिका निभाई। कई बार जेल गए, महीनों यातनाएं सहीं, जेल में भूख हड़ताल तक की।

बीकानेर रियासत में फहराया तिरंगा

वर्ष 1942 में पूरे देश में आजादी का आंदोलन परवान पर था। गांव-गांव और शहर-शहर में देश की आजादी के लिए लोग सड़कों पर उतर रहे थे। रामनारायण शर्मा के पुत्र भोजराज शर्मा के अनुसार स्वतंत्रता सेनानी रामनारायण शर्मा ने बीकानेर रियासत में पहली बार तिरंगा फहराया। इससे लोगों में आजादी के प्रति और प्रेरणा मिली व लोग सड़कों पर उतरे। हालांकि तिरंगा फहराने पर रामनारायण शर्मा को गिरफ्तार भी किया गया था। शर्मा ने केन्द्रीय जेल में भूख हड़ताल भी की। दूधवाखारा आंदोलन में सक्रिय भूमिका निभाई।

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

PM मोदी आज करेंगे 5G सर्विस लॉन्च, टेक्नोलॉजी के नए युग का होगा आगाजगुजरात : AC और सिलेंडर ब्लास्ट से 4 लोगों की दर्दनाक मौत, 5 घायलसंयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में रूस के खिलाफ अमरीका लाया प्रस्ताव, भारत सहित 4 देशों ने नहीं किया मतदानयूक्रेनी क्षेत्रों को रूस में 'विलय' किए जाने की Speech में Putin ने क्यों लिया भारत और चीन का नाम?LPG cylinder price: कमर्शियल गैस सिलेंडर की कीमतों में कमी, घरेलू LPG के दाम में राहत नहींत्योहारों के बीच कमरतोड़ महंगाई, 22 फीसदी तक महंगे हुए रोजाना के सामान, जानिए कब मिलेगी राहत...कांग्रेस अध्यक्ष पद के नामांकन की प्रक्रिया हुई पूरी, मल्लिकार्जुन खड़गे, शशि थरूर और केएन त्रिपाठी मैदान मेंप्रधानमंत्री का राजस्थान दौरा, 7 मिनट के भाषण में जनता का दिल जीत गए पीएम मोदी, देरी के लिए मांगी क्षमा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.