जिले की85 अस्पतालों में 1399 गभर्वतियों की स्वास्थ्य जांच

कोरोना संक्रमण काल के चलते पिछले दो माह से प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान ठप था, जिसे अब फिर से शुरू किया गया है।

By: Jaiprakash

Published: 10 May 2020, 11:39 PM IST

बीकानेर। कोरोना संक्रमण काल के चलते पिछले दो माह से प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान ठप था, जिसे अब फिर से शुरू किया गया है। पहले दिन जिलेभर की ८५ सरकारी अस्पतालों में १३९९ गर्भवतियों के स्वास्थ्य की जांच कर प्रसव पूर्व की सभी जांचें की गई।
सोशल डिस्टेसिंग के नियमों पालना के साथ पीएमएसएमए विशेष एएनसी शिविर आयोजित किए गए। मास्क, फेस शील्ड, कैप, हैण्ड ग्लव्ज आदि पहनने के बावजूद बार-बार हैण्ड सेनेटाईज भी करते रहे और समस्त गर्भवतियों के हाथ भी सेनेटाईज करवाए गए। आशा और एएनएम की ओर से घर-घर सूचना देकर गर्भवतियों को डॉक्टरी जांच के लिए स्वास्थ्य केंद्र लाया गया। सीएमएचओ डॉ. बीएल मीणा ने बताया कि समस्त सीएचसी, पीएचसी, यूपीएचसी, शहरी डिस्पेंसरी और जिला अस्पताल सहित जिले भर के 85 अस्पतालों में चिकित्सकों की ओर से १399 गर्भवतियों की एएनसी जांचें की गई। जिला अस्पताल में डॉ. बीएल हटीला के नेतृत्व में 55 गर्भवतियों की एएनसी की गई 18 की एचआईवी और वीडीआरएल जांचें हुई। शहरी यूपीएचसी में 252, खण्ड बीकानेर में 209, श्रीडूंगरगढ़ में 152, नोखा में 218, कोलायत में 204, लूणकरणसर में 243 व खाजूवाला में 67 गर्भवतियों की जांचे हुई। ।
नि:शुल्क लैब टेस्ट और दवा सुविधा
जिला कार्यक्रम प्रबंधक सुशील कुमार ने बताया कि गर्भवतियों को खून की जांच, हीमोग्लोबिनए,रक्तचापए,शुगर, सोनोग्राफी, वजन की जांच, ऊंचाई, पेट की जांच की तथा आवश्यक औषधियों की निशुल्क सेवाएं उपलब्ध करायी गई।

Jaiprakash Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned