जनसुनवाई में महिला पार्षद बिफरी, बोली मंत्रीजी 'बदतमीजी सहन नहीं होगी

bikaner news - In the public hearing, the female councilor Bifri, the minister said, 'Abusiness will not be tolerated'

By: Jaibhagwan Upadhyay

Published: 27 Jun 2021, 05:38 PM IST

पीसीसी चीफ गोविन्द सिंह डोटासरा पर लगाए अभद्र व्यवहार करने के आरोप
बीकानेर के सर्किट हाउस में जनसुनवाई के दौरान हुआ हंगामा
बीकानेर.
पीसीसी चीफ एवं बीकानेर के प्रभारी मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा की जनसुनवाई में शनिवार को बीकानेर के सर्किट हाउस में एक महिला पार्षद अंजना खत्री ने हंगामा कर दिया।

वे जोर-जोर से कह रही थी मंत्रीजी बदतमीजी सहन नहीं होगी। सत्तर साल की हूं, जमीन से जुड़ी कार्यकर्ता हूं, कोई टिकट लेने नहीं आई हूं, पार्षद पद से हटा नहीं सकते और अगर हटाना है तो हटा दो। उन्होंने यह भी कहा कि जब जनप्रतिनिधियों और कार्यकर्ताओं से मिलना ही नहीं था तो फिर जनसुनवाई ही क्यों की, हम हमारे घर बैठे थे।

इस घटनाक्रम के बाद सर्किट हाउस में मामला गरमा गया। महिला पार्षद अंजना खत्री के सुर में अन्य महिला जनप्रतिनिधि और पुरुष कार्यकर्ताओं ने भी पीसीसी चीफ गोविन्द सिंह डोटासरा के व्यवहार के खिलाफ बोलना शुरू कर दिया। मामला बिगड़ता देख कांग्रेस के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं ने महिला पार्षद अंजना खत्री और उसके सहयोगियों से मान मनुहार करनी शुरू की, लेकिन वे काफी देर तक नहीं मानी। बाद में उन्हें डोटासरा से मिलने का मौका मिला। इस अवसर पर महिला कॉग्रेस अध्यक्ष सुनीता गौड़ और शशि कला राठौड़ भी मौजूद थी।


सुबह सात बजे से लगने लगी भीड़
पीसीसी चीफ डोटासरा की जनसुनवाई में शनिवार सुबह सात बजे से ही लोग सर्किट हाउस पहुंचने शुरू हो गए। करीब तीन घंटे तक चली जनसुनवाई के दौरान डोटासरा बीच-बीच में अपने कमरे में जाते दिखे। वे शुक्रवार को ही दो दिवसीय बीकानेर दौरे के लिए आए थे। उन्होंने शनिवार को जनसुनवाई के बाद कलक्ट्रेट में जिला स्तरीय अधिकारियों एवं शिक्षा विभाग के अधिकारियों की बैठक ली। राजकीय नेत्रहीन छात्रावास में नवीन कमरों का उद्घाटन भी किया। इसके बाद शाम करीब आठ बजे वे सीकर के लिए रवाना हो गए।


डॉ. कल्ला और डूडी से बंद कमरे में गुफ्तगू
शनिवार को उस समय सर्किट हाउस एवं बीकानेर की राजनीतिक गलियारों में चर्चाओं का दौर शुरू हो गया, जब सर्किट हाउस के बंद कमरे में राजस्थान विधानसभा के पूर्व प्रतिपक्ष नेता रामेश्वर डूडी से पीसीसी चीफ एवं बीकानेर के प्रभारी मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने गुफ्तगू शुरू की। इससे एक दिन पूर्व शुक्रवार को श्रीडूंगरगढ़ के पूर्व विधायक मंगलाराम गोदारा एवं लूणकरनसर के पूर्व विधायक विरेन्द्र बेनीवाल ने डोटासरा से मुलाकात की थी। मंगलाराम गोदारा और विरेन्द्र बेनीवाल को रामेश्वर डूडी के विपरीत धड़े का माना जाता है। ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि देहात अध्यक्ष पद के लिए चल रही भागदौड़ में दोनों गुटों ने अलग-अलग नाम की पैरवी की है।

बताया जाता है कि रामेश्वर डूडी ने देहात अध्यक्ष के लिए बिशनाराम सियाग का नाम आगे किया है वहीं मंगलाराम गोदारा, विरेन्द्र बेनीवाल और खाजूवाला के विधायक गोविन्दराम मेघवाल ने शिवलाल गोदारा, रामनिवास कूकणा सहित अन्य पदाधिकारियों के नाम आगे किए हैं। हालांकि मंगलाराम गोदारा स्वयं भी देहात अध्यक्ष की दौड़ में शामिल बताए जा रहे हैं। रामेश्वर डूडी से मिलने के बाद प्रभारी मंत्री डोटासरा ने डॉ. बीडी कल्ला से भी बंद कमरे में गुफ्तगू की। डॉ. कल्ला के भतीजे अनिल कल्ला का नाम भी शहर अध्यक्ष एवं नगर विकास न्यास के अध्यक्ष पद को लेकर सुर्खियों में चल रहा है। शुक्रवार को ही डोटासरा ने विभिन्न संगठनों के पदाधिकारियों ने मिलकर अनिल कल्ला के समर्थन में ज्ञापन सौंपे थे।

बंद कमरों में स्थानीय जनप्रतिनिधियों से हुई गुफ्तगू के क्या परिणाम निकलकर सामने आते हैं यह तो आना वाला वक्त ही बताएगा, लेकिन बीकानेर के राजनीतिक गलियारों में अभी से चर्चाओं का दौर शुरू हो गया है। बीकानेर के जिला कलक्टर नमित मेहता के सरकारी आवास पर पीसीसी चीफ गोविन्द सिंह डोटासरा का बिना किसी पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के चले जाना भी शनिवार को चर्चाओं में रहा।


कौन किसके लिए लगा रहा दौड़
शहर अध्यक्ष पद के लिए दौड़ लगाने वालों में सबसे ऊपर अनिल कल्ला का नाम चल रहा है। इसके बाद दिलीप बांठिया, अरविन्द मिढ्ढा, राजकुमार किराडू, आनंद जोशी का नाम भी सुर्खियों में है। वहीं देहात अध्यक्ष पद के लिए बिशनाराम सियाग, मंगलाराम गोदारा, शिवलाल गोदारा तथा रामनिवास कूकणा के नाम चर्चाओं में है। इसी प्रकार नगर विकास न्यास के अध्यक्ष पद के लिए यशपाल गहलोत, पीसीसी सचिव जिया उर रहमान, सुशील थिरानी, रमेश अग्रवाल, इकबाल समेजा, साजिद सुलेमानी, मकसूद अहमद, हारून राठौड़ आदि के नाम आगे चल रहे हैं।

इनकी रही उपस्थिति
सर्किट हाउस में पीसीसी चीफ गोविन्द सिंह डोटासरा की जनसुनवाई में राजस्थान विधानसभा के पूर्व प्रतिपक्ष नेता रामेश्वर डूडी, ऊर्जा मंत्री डॉ. बीडी कल्ला, उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी, खाजूवाला विधायक गोविन्द मेघवाल, विरेन्द्र बेनीवाल, कांग्रेस शहर अध्यक्ष यशपाल गहलोत, देहात अध्यक्ष महेन्द्र गहलोत, पीसीसी सचिव गजेन्द्र सिंह सांखला, जिया उर रहमान, राजकुमार किराडू, नारायण झंवर, शिवलाल गोदारा, बिशनाराम सियाग, अंजना खत्री, महिला कांग्रेस अध्यक्ष सुनीता गौड़, अतिन वत्स, यूथ नेता राहुल जादूसंगत आदि उपस्थित थे।

Jaibhagwan Upadhyay Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned