रेलवे ने मुख्यालय को लिखा पत्र, टिकट वेंडिंग मशीनों पर फेसिलेटरों की कार्यावधि बढ़ाने की तैयारी

Anushree Joshi

Publish: Mar, 14 2018 12:39:31 PM (IST)

Bikaner, Rajasthan, India
रेलवे ने मुख्यालय को लिखा पत्र, टिकट वेंडिंग मशीनों पर फेसिलेटरों की कार्यावधि बढ़ाने की तैयारी

31 मार्च को हो रहा है कार्यकाल समाप्त

रेलवे स्टेशनों पर ऑटोमेटिक टिकट वेंडिंग मशीन (एटीवीएम) पर लगाए गए फेसिलेटरों (मशीन से टिकट देने वाले) की सुविधा बढ़ाई जा सकती है। उत्तर पश्चिम रेलवे के बीकानेर मंडल में इसके लिए प्रयास किए जा रहे हैं, ताकि एटीवीएम से टिकट निकालने में यात्रियों को परेशानी नहीं हो। फिलहाल फेसिलेटरों की सुविधा 31 मार्च तक है, इसलिए रेलवे इनकी कार्यावधि बढ़ाना चाहता है।

 

इसके लिए मुख्यालय को पत्र लिखकर अनुमति मांगी है। बीकानेर मंडल के 40 स्टेशनों पर 55 ऑटोमेटिक टिकट वेंडिंग मशीनें संचालित हैं। बीकानेर स्टेशन पर एेसी चार मशीनें जून-2015 में लगाई गई थी।

 

इनमें मुख्य प्रेवश द्वार पर तीन और छह नम्बर प्लेटफार्म की तरफ दूसरे प्रवेश द्वार पर एक मशीन लगी है। साथ ही लालगढ़ में भी दो मशीनें लगी हैं। यात्रियों को टिकट निकालने में सहूलियत के लिए सेवानिवृत्त रेल कार्मिकों को फेसिलेटर लगाया गया है। प्रत्येक मशीन पर आठ-आठ घंटे की शिफ्ट में फेसिलेटर कार्य करते हैं।

 

स्मार्ट कार्ड से भी टिकट
कोई भी यात्री टिकट विन्डो से ७० रुपए में स्मार्ट कार्ड बनवा सकता है। इसमें 20 रुपए का बैलेंस मिलता है। इसके अलावा यात्री चाहे तो 50 से 1000 रुपए तक का रिचार्ज करवा सकता है। इसमें एक हजार रुपए तक के रिचार्ज पर यात्रियों को पांच प्रतिशत का बोनस रेलवे देता है।

 

स्मार्ट कार्ड से यात्री तुरंत टिकट ले सकता और लाइन से छुटकारा मिल जाता है। इससे रोजाना अप-डाउन करने वाले यात्री अपना मासिक टिकट रिन्यू करवा सकता है। फेसिलेटरों को 150 किमी तक का टिकट बनाने पर पांच प्रतिशत बोनस मिलता है। फेसिलेटर यात्रियों को जागरूक भी करते हैं।

 

जल्द सहमति संभव
एटीवीएम पर फेसिलेटरों की सुविधा मुहैया कराई जा रही है। इनकी कार्य अवधि 31 मार्च को पूरी हो जाएगी। यात्रियों की सुविधा के लिए फेसिलेटरों की कार्य अवधि बढ़ाने केलिए मुख्यालय को पत्र लिख रहे हैं। जल्द ही आगे की सहमति आ सकती है।
सीआर कुमावत, वरिष्ठ वाणिज्य मंडल प्रबंधक

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned