रात के अंधेरे में करवाया मण्डी का निरीक्षण, अतिक्रमण की खुल गई पोल

dinesh swami

Publish: Sep, 17 2017 10:37:30 AM (IST)

Bikaner, Rajasthan, India
रात के अंधेरे में करवाया मण्डी का निरीक्षण, अतिक्रमण की खुल गई पोल

शासन सचिव ने अधिकारियों से कहा, कब्जे हटाओ नहीं तो होगी कार्रवाई

बीकानेर. कृषि एवं बागवानी विभाग की प्रमुख शासन सचिव नीलकमल ने शुक्रवार को अनाज मण्डी अधिकारियों की खिंचाई कर डाली। उन्होंने मण्डी में अवैध निर्माण को लेकर संबंधित अधिकारियों को खरी-खरी सुनाते हुए कहा कि गलत निर्माण हो रहा है, आपको क्यों नहीं दिखाई दे रहा।

 

उन्होंने दो टूक शब्दों में अधिकारियों से कहा कि सबको नोटिस दो और कार्रवाई करो, वरना उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। अनाज मण्डी में अवैध निर्माण और अतिक्रमण को छिपाने के लिए मण्डी अधिकारियों ने प्रमुख शासन सचिव को भी गुमराह करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी थी।

 

वे शुक्रवार रात करीब आठ बजे नीलकमल को मण्डी का निरीक्षण करवाने ले गए, लेकिन जब नियमों के विरुद्ध काम होते दिखा तो प्रमुख शासन सचिव को माजरा समझते देर नहीं लगी। इससे नाराज नीलकमल ने एक-एक अधिकारी की क्लास ली। अधिकारी जवाब देने की बजाय एक-दूसरे का मुंह ताकने लग गए।

 

खुली पड़ी ढेरियां
प्रमुख शासन सचिव नीलकमल ने मण्डी सचिव नवीन गोदारा से खुली पड़ी ढेरियों के बारे में पूछा तो उन्होंने काश्तकारों और व्यापारियों की होना बताया। इस पर नीलकमल ने कहा कि हर ढेरी का रिकॉर्ड होना चाहिए। उन्होंने गत वर्षों मण्डी में हुए सीसी रोड निर्माण में रही कमियों पर भी एतराज जताया। यहां अधिकारियों ने पानी निकासी और अण्डर ग्राउंड पाइप फिटिंग की कोई जगह तक नहीं छोड़ी।

 

अतिक्रमण की फोटोग्राफी करवाओ
नीलकमल ने मण्डी में अतिक्रमण की १५ दिन में रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश मण्डी सचिव को दिए। उन्होंने कहा कि अभी हुए अतिक्रमण और अतिक्रमण हटाने के बाद के फोटो उन्हें भिजवाएं, ताकि कार्य की समीक्षा की जा सके। नीलकमल ने मौके पर खड़े व्यापारियों से ई-नाम पद्धति और इलेक्ट्रोनिक कांटों के बारे में भी पूछा। उन्हांेने हर दुकान पर इलेक्ट्रोनिक कांटे से व्यापार, इसकी निगरानी करने की हिदायत अधिकारियों को दी। इस अवसर पर मण्डी सचिव नवीन गोदारा के साथ ही एडी चुन्नीलाल स्वामी भी मौजूद थे।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned