नाचेगा ऊंट, मुफ्त उठा सकेंगे कैमल सफारी का लुत्फ

नाचेगा ऊंट, मुफ्त उठा सकेंगे कैमल सफारी का लुत्फ
Camels Festival in bikaner

अंतरराष्ट्रीय ऊंट उत्सव की तैयारियां शुरू, 24वां अंतरराष्ट्रीय ऊंट उत्सव 14 और 15 जनवरी को होगा। जिसमें सजे-धजे ऊंट, पारपरिक वेश-भूषा में रौबीले तथा स्कूली छात्राएं शामिल होंगी।

 24वां अंतरराष्ट्रीय ऊंट उत्सव 14 और 15 जनवरी को होगा। इस बार शोभायात्रा से उत्सव की शुरुआत होगी। जिसमें सजे-धजे ऊंट, पारपरिक वेश-भूषा में रौबीले तथा स्कूली छात्राएं शामिल होंगी। शोभा यात्रा जूनागढ़ से शुरू होकर विभिन्न मार्गों से होकर डॉ. करणीसिंह स्टेडियम पहुंचेगी। इसी के साथ स्टेडियम में ऊंट उत्सव का आगाज होगा।  




  उत्सव की तैयारियों को लेकर शुक्रवार को जिला कलक्टर वेदप्रकाश की अध्यक्षता में बैठक हुई। अतिरिक्त जिला कलक्टर (नगर) को उत्सव का प्रभारी अधिकारी बनाया गया है। कलक्टर ने कहा कि उष्ट्र अनुसंधान केन्द्र की ओर से स्टेडियम में ऊंटनी के दूध के उत्पादों की स्टाल और ऊंट की प्रजातियों एवं उपयोग से संबंधित प्रदर्शनी लगाई जाएगी। इसी प्रकार पशुपालन विभाग योजनाओं की स्टाल लगाएगा। नगर विकास न्यास प्रमुख स्थलों पर रोशनी कर सजावट कराएगा। 



पहले दिन कैमल सफारी  


  ऊंट महोत्सव के पहले दिन 14 जनवरी को सुबह 8 से 10 बजे तक रायसर में पर्यटकों के लिए नि:शुल्क कैमल सफारी एवं राइड की व्यवस्था की गई है। शोभायात्रा के बाद दोपहर 12:30 बज उद्घाटन होगा। आर्मी की ओर से बैगपाइपर बैंड वादन, ऊंट श्रृंगार प्रतियोगिता, ऊंट बाल कतराई प्रतियोगिता, आरएसी का बैंड वादन, ऊंट नृत्य प्रतियोगिता, मिस मरवण तथा मिस्टर बीकाणा प्रतियोगिता होगी।


दूसरे दिन हैरिटेज वॉक

दूसरे दिन 15 जनवरी को हैरिटेज वॉक, रस्सा-कस्सी प्रतियोगिता, ग्रामीण कुश्ती प्रतियोगिता, कबड्डी खेल प्रदर्शन, साफा बांधने की प्रतियोगिता, ऊंटनी दुहने की प्रतियोगिता, ऊंट नृत्य, मटका दौड़, यूजिकल चेयर प्रतियोगिताएं होंगी।    

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned